सीहोर : मध्यप्रदेश में कर्ज से परेशान किसानों की आत्महत्या का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जनपद सीहोर में किसान हरजी किशनलाल ने पांच दिन पहले कीटनाशक पी लिया था और उसकी बीती रात भोपाल के हमीदिया अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। वहीं पुलिस कीटनाशक सूंघने से मौत की बात कह रही है।

सीहोर के इच्छावर थाने के आर्या गांव के रहने वाले हरजी किशनलाल ने 22 दिसंबर को कीटनाशक पी लिया था। परिजनों का कहना है कि उस पर लगभग दो लाख रुपये कर्ज था, जिसमें से 90 हजार रुपये सूदखोरों का था। इससे वह परेशान था और इसी के चलते उसने यह कदम उठाया।

यह भी पढ़ें :

खुद के पैसों के लिए खाट पर लेटे किसान पहुंचा बैंक, जानिए पूरा मामला

आर्थिक तंगी से परेशान किसान परिवार ने की आत्महत्या की कोशिश, तीन की मौत

इच्छावर थाने के प्रभारी एम.आर. खान ने बुधवार को बताया कि किसान ने कीटनाशक पीया नहीं था, बल्कि सूंघा था, जिससे उसकी हालत बिगड़ी, उसे हमीदिया अस्पताल भोपाल में भर्ती किया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

खान का कहना है कि चिकित्सकों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि किसान ने कीटनाशक पीया नहीं है, बल्कि सूंघा ही है। पोस्टमार्टम रपट आने पर सब कुछ सामने आ जाएगा।

-आईएएनएस