शिमला: शिमला विधानसभा चुनाव नतीजे आने को महज करीब 15 घंटे बाकी है, लेकिन वहां की दोनों प्रमुख पार्टियां सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्ष भारतीय जनता पार्टी के बीच जीत के दावे को लेकर मानो एक होड़ लगी है। हालांकि सभी टीवी चैनलों के एग्जिट पोल बताते हैं कि हिमाचल से कांग्रेस का सफायाऔर भाजपा की वापसी की पूरी संभावना है।

कांग्रेस ने जहां एक तरफ भाजपा की जीत वाले एग्जिट पोल के नतीजों को नकार दिया, वहीं भगवा दल अपनी जीत को लेकर आश्वस्त दिखा। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने एग्जिट पोल के नतीजों को नकारते हुए कहा कि वह राज्य के लोगों के मूड को भली तरह भांप सकते हैं और वास्तविक परिणाम एग्जिट पोल से उलट होंगे।

ये भी पढ़े :

बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर, अब 6 महीने में मिल सकेगी रेलवे में नौकरी

भारत को राहुल जैसे नेता की जरूरत, वह बनेंगे अगले प्रधानमंत्री: कुलकर्णी

18 दिन बाद शिमला लौटे सिंह ने पत्रकारों से कहा, मुझे विश्वास है कि मिशन रिपीट हासिल किया जाएगा और भाजपा द्वारा किए गये बड़े-बड़े दावे गलत साबित होंगे। सिंह ने कहा कि उन्होंने चुनाव अभियान के दौरान राज्य के हर गली-नुक्कड़ का दौरा किया और उन्हें कांग्रेस के मजबूत स्थिति में होने पर कोई संदेह नहीं है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस निश्चित तौर पर सरकार बनाएगी। दूसरी ओर, पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता प्रेम कुमार धूमल जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त दिखें और उन्होंने कहा कि नतीजे एग्जिट पोल के अनुरुप ही होंगे।

धूमल ने अपने समीरपुर निवास में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी एग्जिट पोल के नतीजों से निराश है और बेवजह बयानबाजी कर रही है। उन्होंने कहा, वास्तव में, भाजपा एग्जिट पोल में बताई जा रही सीटों से अधिक सीटें हासिल करेगी। प्रेम कुमार धूमल भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हैं।