लखनऊ: गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर प्रमुख राजनीतिक दलों की बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। नेताओं की बयानबाजी हदें पार करने लगी है। भाजपा नेता जीवीएल नरसिम्हन राव ने बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा प्रहार करते हुए उन्हें बाबर का भक्त खिलजी का रिश्तेदार करार दिया।

नरसिम्हा राव से एक कदम आगे बढ़ते हुए भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने राहुल को खिलजी का औलाद बताया। कपिल सिब्बल के बयान पर साक्षी महाराज ने कहा कि विवादित ढांचा गिरे एक लंबा समय हो गया. अब इसमें देर करने की आवश्यकता नहीं है। सुप्रीम कोर्ट निर्णय जल्द आए। अगर इसमें विलंब होता है तो हिंदुस्तान की जनता इसको बर्दाश्त नहीं कर पाएगी। जहां तक कपिल सिब्बल का प्रश्न है, समझ में नहीं आता कि कांग्रेस अपना स्टैंड फाइनल क्यों नहीं करती।

ये भी पढ़े :

बाबू को नहीं है अपनों पर भरोसा, विपक्ष में लगा रहे हैं सेंध

तीन तलाक दिया तो होगी 3 साल की जेल, विधेयक मसौदे पर सहमति जताने वाला UP बना पहला राज्य

साक्षी महाराज ने कहा कि गुजरात में चुनाव है तो राहुल गांधी मंदिर- मंदिर घूम रहे हैं और जय श्री राम कर रहे हैं, जनेऊ दिखा रहे हैं। वहीं कपिल सिब्बल यहां पर राम मंदिर का विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस और राहुल गांधी पहले यह तय करें कि वह मंदिर के विरोध में हैं या मंदिर के पक्ष में है।

साक्षी महाराज ने कहा कि जहां तक मंदिर का प्रश्न है, वहां पर ताला खुला कांग्रेस शासन में, मूर्तियां रखी गई कांग्रेस शासन में और इसी राहुल के पिता राजीव गांधी ने शिलान्यास करवाया था। बेटे का काम होता है जो बाप ने काम अधूरा छोड़ा उसको पूरा करें। यह राजीव गांधी की औलाद नहीं, लगता है खिलजी की औलाद है। लगता है अपने बाप का विरोध कर रहा है।

राजीव गांधी मर गए, लेकिन अगर वह जिंदा होते तो उसके लिए पहल करते। राहुल को अपने पिता के पदचिन्हों पर चलना चाहिए। राम मंदिर कब बनेगा इस पर साक्षी महाराज का कहना है कि मुझे लगता है कि मामला कोर्ट में है। कोर्ट जल्दी से निर्णय देगा। अगर 2019 के चुनाव में जाने से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू नहीं हुआ तो राम के साथ अन्याय होगा, हिंदू समाज और देश के साथ अन्याय होगा।