नई दिल्ली: जद यू के बागी नेता शरद यादव और अली अनवर को सोमवार रात राज्यसभा से अयोग्य करार दिया गया। राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू की तरफ से देर रात शरद यादव को भेजे गए पत्र में यह जानकारी दी गई।

रात करीब साढ़े दस बजे शरद यादव के निवास पर भेजे गए 23 पन्नों के पत्र में कहा गया है, तत्काल प्रभाव से आपकी राज्यसभा की सदस्यता समाप्त की जा रही है। शरद यादव फिलहाल चुनाव प्रचार के सिलसिले में गुजरात में हैं। राज्यसभा के सभापति जद यू के इस तर्क से सहमत थे कि दोनों वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी के निर्देशों का उल्लंघन करते हुए और विपक्षी दलों के कार्यक्रमों में शामिल होकर स्वेच्छा से अपनी सदस्यता त्याग दी। जद यू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के महागठबंधन से हटने और भाजपा के साथ गठबंधन करने के बाद यादव ने विपक्ष से हाथ मिला लिया था।

यादव को पिछले वर्ष सदन के लिए चयनित किया गया था और उनका कार्यकाल 2022 में खत्म होने वाला था। अनवर का कार्यकाल अगले वर्ष की शुरआत में खत्म होने वाला था।

जद यू के पूर्व अध्यक्ष वर्तमान में भाजपा के खिलाफ चुनाव प्रचार के लिए गुजरात में हैं और वह खुद को अयोग्य ठहराए जाने पर कल प्रतिक्रिया दे सकते हैं।