मुंबई। दादा साहब फाल्के पुरस्कार विजेता अभिनेता शशि कपूर का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को मुंबई में निधन हो गया। 18 मार्च 1938 को कोलकाता में जन्मे शशि कपूर मशहूर अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के शम्मी कपूर और राज कपूर के तीसरे बेटे थे। इनका कोकिलाबेन अस्पताल में कई दिनों से इलाज चल रहा था।

पत्नी व बच्चों के साथ
पत्नी व बच्चों के साथ

शशि कपूर का असली नाम बलबीर राज कपूर था। उन्होंने बतौर चाइल्ड एक्टर अपने भाई राज कपूर की फिल्म 'आवारा' और 'आग' में काम किया था। साल 2011 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया था। साल 2015 में उन्हें 2014 के दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

जब जब फूल खिले में शशि कपूर
जब जब फूल खिले में शशि कपूर

वे हिंदी सिनेमा के पहले ऐसे अभिनेता थे जिन्होंने 'हाउसहोल्डर' और 'शेक्सपियर वाला' जैसी अंग्रेजी फिल्मो में मुख्या भूमिकाएं निभाईं। 70 के दशक में शशि कपूर और अमिताभ बच्चन की फिल्म 'दीवार' सुपरहिट रही। इसके अलावा उन्होंने 'सत्य शिवम सुंदरम', 'नमक हलाल', 'जब-जब फूल खिले' और 'कभी-कभी' जैसी सुपर हिट फिल्मों में काम किया था।

अमिताभ के साथ शशि कपूर
अमिताभ के साथ शशि कपूर

फिल्म जगत में अपनी खास मुस्कान के लिए अपने चाहने वालों के बीच मशहूर रहे मशहूर अभिनेता शशि कपूर का लंबे समय से बीमार हैं।

उनके निधन का समाचार मिलते ही उनके भतीजे ऋषि कपूर दिल्ली में अपनी फिल्म की शूटिंग छोड़ मुंबई रवाना हो गए हैं। 18 मार्च 1938 को कोलकाता में जन्मे शशि कपूर मशहूर अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के शम्मी कपूर और राज कपूर के तीसरे बेटे थे।

हुई थी बायपास सर्जरी
शशि कपूर मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती थे। शशि कपूर को साल 2014 से चेस्ट में तकलीफ थी। इससे पहले उनकी बायपास सर्जरी भी हुई थी। 1984 में पत्नी जेनिफर की कैंसर से मौत के बाद शशि कपूर काफी अकेले रहने लगे थे और उनकी तबीयत भी बिगड़ती गई। बीमारी की वजह से शशि कपूर ने फिल्मों से दूरी बना ली। शशि के तीन बच्चे करण कपूर, कुनाल कपूर और संजना कपूर हैं।