पटना: बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के बेटे उत्कर्ष की शादी को लेकर लालू पुत्र तेजप्रताप चर्चा में रहे। ताजा बयान में उन्होंने सुशील चाचा से उनकी भी शादी कराने और लड़की ढूंढने की गुजारिश की थी। जिसका जवाब सुशील मोदी ने दिया है। लेकिन इसके लिए उन्होंने तीन शर्तें रखी हैं।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि वे तेजप्रताप के लिए लड़की जरूर खोजेंगे। लेकिन भतीजे को चाचा की तीन शर्तें भी माननी होगी। पहला दहेज मुक्त शादी हो, दूसरा अंग-दान का वचन लें और तीसरा ये कि कभी किसी की शादी में विघ्न डालने की धमकी न दें।

जी हां, इससे पहले लालू पुत्र तेज प्रताप यादव ने डिप्टी सीएम की शादी में व्यवधान डालने की धमकी दी थी। उन्होंने यहां तक कह डाला था कि सुशील मोदी को घर में घुसकर मारेंगे। हालांकि इस बयान पर लाल पीला होने की बजाय सुशील मोदी ने चुटीले अंदाज में ही प्रतिक्रिया दी है।

बता दें कि लालू, नीतीश और सुशील मोदी का कॉलेज के जमाने से ही पुराना नाता रहा है। लिहाजा तेजप्रताप सीएम और डिप्टी सीएम को चाचा कहकर बुलाते हैं। भतीजे की गुस्ताखी पर चाचा की सहज प्रतिक्रिया सबको प्रभावित कर रही है।

एक अलग घटनाक्रम में लालू प्रसाद का नेग के तौर पर सुशील मोदी को बंद लिफाफा थमाना भी चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि सुशील मोदी ने आमंत्रण पत्र में ही गुजारिश कर रखी थी कि शादी में कोई मेहमान तोहफा न लाएं। बावजूद इसके लालू ने शगुन का लिफाफा थमाया और सुशील मोदी ने उसे स्वीकार भी किया। इसे लालू प्रसाद का सियासी दांव भी कहा जा रहा है।

लालू ने सुशील मोदी के बेटे की दहेज मुक्त शादी पर भी आशंका जाहिर की है। उन्होंने ठेठ अंदाज में कहा कि कोई झंडा फहराकर तो दहेज लेता नहीं है। ये सब बंद कमरे में ही होता है।

कुल मिलकार बिहार के डिप्टी सीएम के बेटे की शादी सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है।