तिरुमला: भगवान बालाजी के दर्शन के लिए लोगों को अब लंबा इंतजार नहीं करना होगा। सर्व दर्शन के लिए 'निर्धारित समय नीति' अपना कर श्रद्धालुओं को मात्र 2 से 3 घंटे के भीतर भगवान बालाजी के दर्शन कराने की व्यवस्था की जा रही है। दिसंबर 10 से 12 तारीख तक इस नीति को प्रयोग के तौर पर आरंभ किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:

तिरुमला भी जीएसटी से नहीं रहा अछूता

तिरुमला तिरुपति देवस्थानम की हुंडी आय में अपार वृद्धि

बड़े नोटों के बंद का असर तिरुमला भक्तों पर

हर रोज 22 से 38 हजार श्रद्धालुओं को सर्व दर्शन के टोकन जारी किये जाएंगे। इसके लिए तिरुमला में 150 काउंटर द्वारा टोकन जारी करने की व्यवस्था की जा रही है। टोकन प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य होगा। एक बार टोकन प्राप्त करने वाले श्रद्धालु 48 घंटे के भीतर फिर एक बार टोकन प्राप्त कर सकते हैं।

फरवरी से इस नीति को पूरे स्तर पर लागू किये जाने की संभावना है। बिना टोकन के कंपार्टमेंट में इंतजार करने वाले श्रद्धालू भी सर्व दर्शन कर सकते हैं। फिलहाल 38 हजार श्रद्धालुओं को टोकन जारी किये जा रहे हैं। टीटीडी अधिकारियों का कहना है कि 'निर्धारित समय नीति' लागू किये जाने के बाद सभी श्रद्धालु आसानी से काफी कम समय में भगवान बालाजी के दर्शन कर सकेंगे।