जयपुर: राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ इलाके में एक व्यक्ति की हत्या के मामले में पुलिस ने आज एक व्यक्ति को हिरासत में लिया।

गत 10 नवम्बर को उमर खान की अज्ञात आरोपियों ने हत्या की दी थी। सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने उमर की हत्या गौ रक्षकों द्वारा करने का आरोप लगाया था। रेलवे ट्रैक पर मिले शव की पहचान कल उमर खान के रुप में की गई थी।

राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा, हमारे पास सभी शहरों में हरस्थिति को समय पर नियंत्रण करने के लिये पर्याप्त पुलिस बल नहीं है. घटना रात में घटित हुई है और पुलिस मामले में कार्वाई कर रही है. एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है. उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मामले को शीघ्र ही सुलझा लिया जायेगा और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी चाहे वो हिन्दू हो या मुसलमान।

यह भी पढ़ें:

तीन सालों में गो-रक्षा के नाम पर 97 फीसदी हमले

‘गो रक्षकों को मिल रहा BJP-RSS का साथ’, भीड़ हिंसा पर विधेयक पेश करेंगे ओवैसी

अलवर (दक्षिण) के उपायुक्त अनिल बेनीवाल ने हत्या के सिलसिले में एक व्यक्ति को हिरासत में लेने की पुष्टि करते हुए बताया कि उससे उसके अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है।

अलवर के गोविन्दगढ पुलिस थाना क्षेत्र में मृतक उमर खान के परिजनों की ओर से दर्ज शिकायत के आधार पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 श्रहत्या(, 307 (हत्या का प्रयास) और 201 (साक्ष्य को मिटाने) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

जयपुर के सवाई मान सिंह चिकित्सालय में मृतक उमर खान का पोस्टमार्टम किया जायेगा। उसके शव को पोस्टमार्टम के लिये अलवर से कल लाया गया था. अस्पताल के अधीक्षक डा. डी एस मीणा ने बताया कि पोस्टमार्टम मामले में गठित किये गये मेडिकल बोर्ड द्वारा किया जायेगा.

वहीं, मृतक के परिजनो के हत्या मामले की शीघ्र कार्वाई और मुआवजे की मांग की है।

घटना मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अलवर में प्रस्तावित यात्रा के पहले घटित हुई है। अलवर में आने वाले महीने में होने वाले उप चुनावों को देखते हुए मुख्यमंत्री अलवर के कई हिस्सों का दौरा कर रही है।