श्रीकाकुलम (आंध्रप्रदेश) : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी हाई पॉवर कमेटी के सदस्य तम्मिनेनी सीताराम ने कहा कि दल-बदलू विधायकों को अयोग्य घोषित न करने वाले कोडेला शिवप्रसाद इतिहास में कलंकित विधानसभ अध्यक्ष बनकर रह जाएंगे।

सीताराम ने शुक्रवार को जिला पार्टी कार्यालय में मीडिया से आगे कहा कि वाईएसआरसीपी की टिकट पर जीत चुके उनके विधायकों को टीडीपी ने पार्टी में शामिल कर लिया। इतना ही नहीं इन विधायकों को मंत्री पद भी सौंपा हैं। ऐसा करके चंद्रबाबू नायुडू ने लोकतंत्र की मर्यादाओं का हनन भी कर दिया है।

उन्होंने कहा कि पार्टी के अध्यक्ष वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने लोकतंत्र की मर्यादाओं के हनन के विरोध में विधानसभा सत्र का बहिष्कार करने का जो फैसला लिया है वह प्रशंसनीय है।

सीताराम ने कहा कि कोडेला शिवप्रसाद से पहले अनेक विधानसभा अध्यक्ष हुए है। वे इस पद की गरिमा बनाये रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी। वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष उनसे भिन्न व्यवहार कर रहे है।

उन्होंने चंद्रबाबू नायुडू से सवाल किया कि दल-बदलू कानून पर मीडिया के सामने वाईएसआरसीपी बहस के लिए तैयार है।