न्यूयॉर्क : जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की रिहाई से जुड़े मामले में एक नया खुलासा हुआ है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने दावा किया है कि जाधव के बदले एक आतंकवादी छोड़ने का प्रस्ताव दिया गया था।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने बुधवार को न्यूयार्क में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, पेशावर में एपीएस (आर्मी पब्लिक स्कूल) में बच्चों की हत्या करने वाला आतंकवादी अफगान हिरासत में है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) ने मुझसे कहा कि हम उस आतंकवादी से आपके पास मौजूद आतंकवादी जो कि कुलभूषण जाधव है, की अदला बदली कर सकते हैं। मंत्री ने यह दावा एशिया सोसायटी में एक सवाल के जवाब में किया।

हालांकि उन्होंने आतंकवादी का नाम और उस एनएसए के बारे में स्पष्ट नहीं किया, जिसके संदर्भ में उन्होंने यह बात की। आसिफ ने कहा कि पाकिस्तान को अफगानिस्तान में संघर्ष और अस्थिरता से बहुत क्षति पहुंची है।

यह भी पढ़ें :

कुलभूषण जाधव के भारतीय जासूस होने के दावे से पीछे हटा पाकिस्तान

कुलभूषण मामले में हरीश साल्वे कितनी फ़ीस ले रहे हैं, जानकर हैरान होंगे आप!

उज्जवल निकम ने पाकिस्तान जाकर कुलभूषण जाधव का केस लड़ने की भरी हामी

भारतीय नौसेना के 46 साल के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव को पाकिस्तान की फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने पाकिस्तान के खिलाफ कथित रुप से जासूसी और विध्वंसकारी गतिविधियों में संलिप्तता के लिए अप्रैल में मौत की सजा सुनाई थी।

दूसरी ओर भारत ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया है कि उसने जाधव तक राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराने के आग्रह को बार बार ठुकरा कर वियना संधि का उल्लंघन किया है। 18 मई को इस मामले की सुनवाई करते हुए अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत की 10 सदस्यीय पीठ ने जाधव को फांसी की सजा पर अमल पर रोक लगा दी थी।