पटना : बिहार में सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल जनता दल (युनाइटेड) ने अपनी ही पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को जल्द से जल्द राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में शामिल होने की नसीहत दी है। जद (यू) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने बुधवार को पटना में संवाददाताओं से कहा, "चुनाव आयोग ने आपको जद (यू) मानने के दावे को अमान्य कर दिया और अब राज्यसभा सदस्यता खारिज होने का खतरा है।

मेरी यह सलाह है कि जल्द से जल्द 'लालटेन' पकड़ लीजिए। अगर, अलग राजनीतिक दल बनाना है तो 'वेपर लाइट' पकड़ कर घूमिए, जनता की अदालत में अब आपकी जगह नहीं है।"उन्होंने राज्यसभा सांसद यादव पर तंज कसते हुए कहा कि शरद यादव ने राजनीति में जो संगति की थी, उसका असर चुनाव आयोग में दिखाई पड़ा।

ये भी पढ़े :

साई किरण ने कबूला ,चांदनी की हत्या क्षणिक आवेश में कर दिया था

GST के तहत पेचीदगियां दूर करने के लिए GoM का गठन, Dy. सीएम सुशील मोदी बने अध्यक्ष

नीरज कुमार ने कहा, "शरद जब से पूर्व मंत्री और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव और तेजप्रताप के 'पॉलिटिकल अंकल' बने हैं और जब उनकी निगाह इस बात पर गई कि जब लालू सपरिवार जेल जाएंगे तब हम उनकी संपत्ति के 'कस्टोडियन' बनेंगे, उसके बाद से राजनीति में इनकी दुर्गति शुरू हो गई है।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग में शरद यादव ने दावा किया था कि उनकी पार्टी जनता दल (यू) है, जिसे चुनाव आयोग ने अमान्य करार दिया। अब राज्यसभा सचिवालय द्वारा राज्यसभा की सदस्यता के संबंध में भी नोटिस जारी किया गया है, जिससे अब तो उनकी सदस्यता भी खारिज होने का खतरा है।

उन्होंने कहा, "जद (यू) पर शरद यादव का कोई दावा नहीं है, इसलिए आप (शरद) मिलन समारोह की तिथि और समय तय कीजिए। वैसे, लालू प्रसाद तो कानूनी व्यस्तता में बेचैन हैं। देखना है कि वह कब आपको समय देते हैं। पितृपक्ष के पहले या पितृपक्ष के बाद मिलन समारोह कब होगा?"

उन्होंने कहा कि दिल तो मिला हुआ था ही, अब जल्द से जल्द 'एंट्री' ले लीजिए और तेजस्वी, तेजप्रताप जिंदाबाद का नारा लगाइए। नीरज का दावा है कि सभी राज्य कमेटी और बिहार के विधायक और अधिकांश सांसद मुख्यमंत्री और पार्टी के अध्यक्ष नीतीश कुमार के साथ हैं।