तिरुपति: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तिरुमाला स्थित भगवान श्री वेंकटेश्वर की प्राचीन पर्वतीय मंदिर में आज पूजा अर्चना की।तीन विभिन्न मंदिरों में पूजा अर्चना करने के लिये राष्ट्रपति अपनी पत्नी सविता और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ कल यहां पहुंचे थे।

जुलाई में देश के 14वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ग्रहण करने के बाद वह पहली बार इस मंदिर में आए हैं।राष्ट्रपति ने मंदिर में करीब आधा घंटा बिताया।

इस दौरान आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और राज्यपाल ई एस एल नरसिम्हन राष्ट्रपति के साथ मौजूद थे।

राष्ट्रपति के मंदिर परिसर के मुख्य प्रवेशद्वार पर पहुंचने पर शीर्ष पुजारियों के वैदिक मंत्रोच्चार के बीच उनका भव्य पारंपरिक स्वागत हुआ। पुजारी राष्ट्रपति को 2000 साल से अधिक पुराने मंदिर के गर्भगृह तक ले गये।

मंदिर में पूजा अर्चना के बाद कोविंद को पुजारियों ने आशीर्वाद दिया जबकि मंदिर के कार्यकारी अधिकारी अनिल कुमार सिंघल ने उन्हें पवित्र रेशमी वस्त्र से सम्मानित किया और प्रसाद दिया। राष्ट्रपति बाद में नई दिल्ली के लिये रवाना हो गये।

आज सुबह इस प्राचीन मंदिर की यात्रा से थोडी देर पहले राष्ट्रपति ने वाराह स्वामी मंदिर में भी दर्शन किए थे।पर्वतीय क्षेत्र में पहुंचने से पहले कल उन्होंने यहां पास के तिरचनूर स्थित देवी पद्मावति के मंदिर में भी दर्शन किए थे।