सिद्दीपेट: स्वास्थय एवं चिकित्सा मंत्री सी. लक्ष्मा रेड्डी ने कहा कि राज्य में गुर्दा पीडितों को ध्यान में रखकर निशुल्क डायलिसिस सेवा उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होने सिद्दीपेट में सरकारी अस्पताल केन्द्र में डायलिसिस केन्द्र का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर मंत्री हरीशराव भी उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान लक्ष्मा रेड्डी ने कहा कि गुर्दा पीड़ितों की समस्या को ध्यान में रखकर पूरे राज्य में 40 ऐस केन्द्र खोले जा रहे हैं। इस प्रक्रिया को एक महीने के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। तेलंगाना में पहली बार सिंगल यूज उपकरणों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

गुर्दा रोग से पीड़ित लोग निजी अस्पतालों में महंगा इलाज करा रहे हैं और इसका भार वहन करने की स्थिति में नही है। इसी बात को ध्यान में रखकर सरकार ने सरकारी अस्पतालों में डायलिसिस केन्द्र खोलने का निर्णय लिया है।

इस संदर्भ मे हरीश राव ने कहा कि किसी समय एकीकृत आंध्र प्रदेश में लोग सरकारी अस्पतालों में इलाज कराने से घबराते थे। पृथक तेलंगाना के गठन के बाद सरकारी अस्पतालों की स्थिति में सुधार हुआ है। राज्य के सरकारी अस्पतालों के लिए विदेशों से उपकरण आयात किये जा रहे हैं। उन्होने कहा कि सिद्दीपेट में पहला डयालसिस केन्द्र का उद्घाटन किया गया है।