हैदराबाद : शहर के सिकंदराबाद स्थित महात्मा गांधी अस्पताल में टेक्निशियनों के रूप में कार्यरत छात्राएं यौन उत्पीड़न की शिकार बन रही हैं। इसी सिलसिले में मंगलवार को करीब 20 विद्यार्थियों ने अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट से मामले की शिकायत की। इस पर सुपरिंटेंडेंट ने तीन महिला प्रोफेसरों की मौजूदगी में एक शी टीम गठित कर तीन दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिये हैं।

ये भी पढ़े :

विक्रम गौड़ ने भाड़े के शूटरों से कराया था अपने ऊपर हमला !

छेड़खानी कर रहे लड़कों की लड़की ने बनाई वीडियो, तलाश में जुटी पुलिस

इसी रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। निजी कॉलेजों में एमएलटी, डीएमएलटी, बीएससी-एमएलटी आदि ओकेशनल लैब टेक्निशियन कोर्स के विद्यार्थी टेक्निकल ट्रेनिंग के लिये अनिवार्य रूप से 6 महीने तक गांधी अस्पताल में ड्यूटी करनी होती है। इसी के तहत 100 से अधिक विद्यार्थी गांधी अस्पताल के विभिन्न विभागों में जूनियर लैब टेक्निशियनों के रूप में काम कर रहे हैं।

इनमें छात्राओं की संख्या अधिक है। परंतु विभिन्न विभागों में कार्यरत सीनियर लैब टेक्निशियन उन्हें यौन उत्पीड़न का शिकार बना रहे हैं। पीड़ितों ने मंगलवार को अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट श्रवण कुमार से भेंट कर उनसे मामले की शिकायत की थी। सुपरिंटेंडेंट ने तीन सदस्यीय शी टीम को मामले की जांच कर तीन दिन के भीतर रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिये हैं।