उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या दौरे पर हैं। यहां एक सभा को सबोधित करते हुए सीएम योगी ने रामजन्मभूमि विवाद पर खुलकर बात रखी। उन्होंने कहा कि राम मंदिर का मसला बातचीत के जरिए जल्द हल किया जाना चाहिए। अब तो कई मुस्लिम संगठन भी राम जन्मभूमि हिंदू समाज को सौंपने के लिए तैयार हो गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने भी संवाद का एक मौका दिया है।”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि काशी की गंगा आरती की तरह ही यहां भी सरयू आरती होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या भगवान राम के नाम से जुड़ा हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां रामलीला का भी आयोजन होना चाहिए। सीएम योगी ने अयोध्या के विकास के लिए 350 करोड़ रुपये के निवेश की बात कही।

सीएम योगी ने रामनवमी से अयोध्या को चौबीस घंटे बिजली देने की भी घोषणा की। अयोध्या अब एलईडी लाइट से जगमग होगी। उन्होंने कहा कि अब बिजली देने में किसी तरह का भेदभाव नहीं बरता जाएगा।

बता दें बुधवार को अयोध्या की पतली गलियों में योगी का काफिला पहुंचा…जहां उन्होंने योगी हनुमान गढ़ी की 51 सीढ़ियां चढ़कर दर्शन को पहुंचे। उन्होंने बजरंगबली की परिक्रमा की। यहां रामलला के दर्शन से पहले बजरंगबली के दर्शन की रवायत है।