नई दिल्ली : तेजस एक्सप्रेस ट्रेन का किराया शताब्दी एक्सप्रेस के किराये से 20 फीसदी ज्यादा होगा। सीसीटीवी कैमरों और धुएं एवं आग का पता लगाने वाली प्रणालियों जैसे सुविधाओं से लैस तेजस एक्सप्रेस को रेल मंत्री सुरेश प्रभु 22 मई को मुंबई से गोवा के लिए रवाना करेंगे।

ट्रेन में यात्रियों को यात्रा के दौरान खाना ऑर्डर करने का विकल्प मिलेगा। यदि कोई यात्री टिकट खरीदते वक्त भोजन का विकल्प चुनता है तो किराये में खानपान शुल्क जोड़ा जाएगा।

यह भी पढ़ें :

लंबी वेटिंग लिस्ट से न घबराएं, रेलवे ने की यह व्यवस्था

तमाम सवालों का जवाब देगा रेलवे का यह नया मेगा ऐप, जानिए क्या है खासियत

रेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि शताब्दी के मुकाबले तेजस के मूलभूत किराये में 20 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोत्तरी है। सुपरफास्ट सरचार्ज, आरक्षण शुल्क और खानपान शुल्क अलग से लगाए जाएंगे। बगैर भोजन के तेजस में एग्जिक्यूटिव श्रेणी का किराया 2,540 रुपए तय रहेगा और भोजन के साथ किराया 2,940 रुपए होगा।

भोजन के साथ चेयर कार का किराया 1,850 रुपए होगा और भोजन के बगैर इसका किराया 1,220 रुपए होगा। शताब्दी का किराया एग्जिक्यूटिव श्रेणी और चेयर कार श्रेणी में क्रमश: 2,390 रुपए और 1,185 रुपए है, जिसमें भोजन भी शामिल होता है।

तेजस के नए डिब्बों का निरीक्षण करते समय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था कि ट्रेन बेहतर सुविधाओं से लैस है, लिहाजा सामान्य मेल या एक्सप्रेस सेवा की तुलना में इसका किराया भी थोड़ा ज्यादा रहेगा। कपूरथला के रेल कोच कारखाने में इस ट्रेन के डिब्बे बनाए गए हैं। ट्रेन में 19 डिब्बे हैं।