पेरिस: फ्रांस की राजधानी पेरिस में राष्ट्रपति चुनाव से तीन दिन पहले गुरुवार को हुए हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई।

देश में पहले दौर के राष्ट्रपति चुनाव से तीन दिन पहले यह घटना हुई है।

आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

इस घटना में हमलावर सहित एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई जबकि तीन घायल हो गए।

पेरिस के मुख्य अभियोजक फ्रांस्वा मोलिन्स ने बताया कि पुलिस ने हमलावर की पहचान की पुष्टि कर दी है, लेकिन अभी नाम का खुलासा नहीं किया गया है।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, जांचकर्ता पहले ही उपनगरीय पेरिस में हमलावर के घर की तलाशी ले चुके हैं।

आईएस का कहना है कि इस घटना को उसके लड़ाके ने अंजाम दिया है।

राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा कि वह इस बात से सहमत हैं कि इस घटना को किसी आतंकवादी ने अंजाम दिया है।

ओलांद ने टेलीविजन पर अपने संबोधन में कहा, "हम देश में और हर जगह आतंकवाद का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

उन्होंने कहा कि प्रशासन को विशेष रूप से चुनाव के दौरान संभावित खतरे के मद्देनजर हाई अलर्ट पर बरकरार रखा जाएगा।

बंदूकधारी ने कल रात करीब नौ बजे (स्थानीय समयानुसार) पुलिस की एक कार पर स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की जिसके बाद पर्यटकों और यात्रियों ने वहां से भाग कर जान बचाने की कोशिश की।

पुलिस सूत्रों ने एएफपी को बताया कि अधिकारी की हत्या करने और उसके सहकर्मियों को घायल करने के बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में बंदूकधारी मारा गया।

आईएस की समाचार एजेंसी अमाक द्वारा प्रकाशित एक बयान में कहा गया, ‘‘मध्य पेरिस के चैम्प्स एलीसीस में हमला करने वाला व्यक्ति बेल्जियम का नागरिक अबु यूसुफ हैं और वह इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों में से एक है।''

सूत्रों ने बताया कि हमलावर के बारे में फ्रांस की आतंकवाद रोधी पुलिस जानती थी अैर पेरिस के पूर्व में एक उपनगर में उसके पते पर छापे मारे गए हैं।