नई दिल्ली : दिल्ली नगर निगम के आगामी चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के साथ वीवीपीएटी तकनीक के इस्तेमाल की मांग को लेकर सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है।
उच्च न्यायालय ने मंगलवार को आप द्वारा दायर याचिका पर मंगलवार को ही सुनवाई करने की सहमति दे दी है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आप ने उच्च न्यायालय में दायर अपनी याचिका में मांग की है कि 23 अप्रैल को होने वाले निकाय चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपीएटी तकनीक का इस्तेमाल करने के लिए निर्वाचन आयोग को दिशा-निर्देश जारी किए जाएं।

यह भी पढ़े :

एमसीडी चुनाव : मुसलमानों का रुझान देख भाजपा ने खेला मुस्लिम कार्ड

सिर्फ वीवीपीएटी से लैस वोटिंग मशीनों से कराए जाएं एमसीडी चुनाव : केजरीवाल

योगी सरकार का नौकरशाही में बड़ा फेरबदल, 41 आईएएस अधिकारियों के तबादले

हाल ही में देश के पांच राज्यों में हुए चुनाव के दौरान पहली बार इस्तेमाल की गई वीवीपीएटी तकनीक के तहत मतदान करने पर एक पर्ची निकलती है, जिससे मतदाता इस बात की पुष्टि कर सकता है कि उसने जिसे भी अपना मत दिया है उसी को मतदान पड़ा है। हालांकि पर्ची मतदाता को नहीं मिलती और वहीं रखे एक बॉक्स में जमा हो जाती है।
आप ने आरोप लगाया है कि बिना वीवीपीएटी वाली ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है।
--आईएएनएस�