पटना: बिहार की राजधानी पटना के गंगा नदी में मकर संक्रांति के मौके पर नाव हादसे में हुई 25 लोगों की मौत पर अब राजनीति शुरू हो गई है। बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जहां इस हादसे के लिए सरकार को जिम्मेदार बता रही है, वहीं सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) भी इस हादसे को प्रशासनिक चूक का नतीजा बता रही है। इधर, जनता दल (यू) सरकार के बचाव में उतर आई है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इस हादसे को लेकर सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने एक मुहावरा पेश करते हुए कहा कि जब प्रकाशोत्सव को लेकर 'ताली' मुख्यमंत्री को तो 'गाली' भी मुख्यमंत्री को।

उन्होंने कहा कि प्रकाश पर्व तथा कालचक्र पूजा की तैयारी की जब मुख्यमंत्री समीक्षा कर सकते हैं, तो इस उत्सव को लेकर उन्होंने समीक्षा क्यों नहीं की।

यह भी पढ़ें :

बिहार : गंगा में डूबी नाव, 25 लोगों की मौत, जांच के आदेश

पटना नाव हादसे में सामने आई प्रशासन की घोर लापरवाही

मोदी ने कहा, "जब प्रकाश पर्व और कालचक्र की अच्छी व्यवस्था का पूरा श्रेय नीतीश कुमार खुद ले रहे हैं तो सरकारी अव्यवस्था के कारण हुए इस हादसे की जिम्मेदारी क्यों नहीं ले रहे? प्रधानमंत्री जी ने इस हृदय विदारक घटना के कारण आज होनेवाले गांधी सेतु के पुनर्विकास कार्य का शुभारंभ कार्यक्रम को रद्द कर दिया। क्या नीतीश कुमार भी 21 जनवरी को होने वाले मानव श्रृंखला कार्यक्रम को रद्द करेंगे?"

विधानसभा में नेता विपक्ष प्रेम कुमार ने कहा कि इस हादसे के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने आरोप लगाया कि मौके पर पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी और यह बड़ी चूक है।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, "व्यवस्था को और अधिक मजबूत किया जा सकता था। मृतकों के प्रति गहरी संवेदना है। व्यवस्था में लापरवाही की वजह से ही यह हादसा हुआ है और इसीलिए इसके कारणों की जांच होनी चाहिए।"

इधर, राजद के मनेर क्षेत्र से विधायक वीरेंद्र ने इस घटना को प्रशासनिक चूक बताते हुए कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए और दोषी पदाधिकारियों को दंडित कर तत्काल पटना से बाहर भेजा जाना चाहिए।

वहीं, जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि यह संवेदनशील मामला है। मानवीय संवेदना के आधार पर सभी को उन परिवारों के साथ होना चाहिए, जिनके अपने बिछुड़ गए हैं। ऐसे मौके पर राजनीति सही नहीं है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। सरकार दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवारों के साथ है।

उल्लेखनीय है कि बिहार की राजधानी पटना में शनिवार शाम गंगा नदी में हुई नाव दुर्घटना में 24 लोगों की मौत हो गई है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए जांच के आदेश दिए हैं और मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये बतौर मुआवजा देने की घोषणा की है।

-आईएएनएस