जब हिंदू दुल्हन के लिए ढाल बन गए मुस्लिम पड़ोसी, ऐसे करवाई शादी

सावित्री की एक दिन बाद शादी कराई गई। - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली में बीते सोमवार से तीन दिनों तक हिंसा की घटनाएं घटित हो रही थी जिसके हालात बेकाबू हो गए थे। इस दौरान मुस्लिम बहुल इलाके में रहने वाली एक हिंदू लड़की की शादी होनी थी जिसको लेकर पूरा परिवार मायूस था। क्योंकि इस मुश्किल घड़ी में शादी समारोह का आयोजन होना काफी मुश्किल था। ऐसी मुश्किल घडी में एक मुस्लिम परिवार ने इनका साथ दिया था।

सावित्री हाथो में मेहंदी लगाए बरात के इंतजार में थी।

हिंदू परिवार की शादी में पड़ोस में रहने वाले मुस्लिम युवाओं ने दुल्हन का भाई बनकर रिश्ता निभाया और हिंसा की घटनाओं के बीच एक मानवता की मिसाल पेश की हैं। यहां की रहने वाली एक लड़की की शादी के एक दिन पहले ही इलाके में हिंसा की बड़ी घटना हुई। माहौल को देखते हुए हिंदू परिवार की बेटी ने शादी रोकने या तारीख आगे बढ़ाने की बात कही थी। लेकिन मुस्लिम पड़ोसियों ने इस मुश्किल घड़ी में साथ देते हुए शादी की तैयारियां शुरू हुईं और समारोह पूरा किया गया।

शादी की तैयारियां शुरू हुईं और समारोह पूरा किया गया।

जानकारी के मुताबिक हिंसाग्रस्त चांद बाग इलाके की एक संकरी गली में 23 साल की सावित्री प्रसाद की मंगलवार को उसकी शादी होने वाली थी। तभी वहां के हालात को देखते हुए वो अपने घर में रो रही थीं। जब वह हाथो में मेहंदी लगाकर शुभ दिन का इंतजार कर रही थी तब उसे कुछ सूझ नहीं रहा था कि आगे क्या किया जाए। इसी दौरान लड़की के पिता ने घोषणा की कि शादी अगले दिन होगी और उसमें मुस्लिम पड़ोसी मौजूद रहेंगे। यह सुन सभी हैरान हो गए।

Advertisement
Back to Top