दिल्ली के चार इलाकों में लगा कर्फ्यू, अब तक 10 लोगों की मौत

डिजाइन इमेज - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में नागरिकता कानून के नाम पर फैलाई जा रही हिंसा को रोकने के लिए चार इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। मौजपुर, जाफराबाद, करावलनगर और चांदपुर में कर्फ्यू लगाया गया है। हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एमएस रंधावा ने जानकारी देते हुए बताया कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है। असामाजिक तत्वों से जुड़ी घटनाओं पर कार्रवाई की जा रही है।

एमएस रंधावा ने कहा कि उत्तर-पूर्व दिल्ली में पर्याप्त बल तैनात किए गए हैं। आरएएफ और सीआरपीएफ को तैनात किया गया है। साथ ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पूरे हालात पर नजर रख रहे हैं। आगजनी के सिलसिले में 11 प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस ने भजनपुरा और खुरेजी खास में किया फ्लैग मार्च

उत्तर पूर्व दिल्ली के भजनपुरा और खुरेजी खास इलाके में मंगलवार को आगजनी और पथराव होने के बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च किया। भजनपुरा में बैटरी की एक दुकान जला दी गयी। उस दुकान में तोड़फोड़ की गयी। सड़क पर जली हुई बैटरियां बिखरी नजर आयीं।

स्थानीय व्यक्ति राकेश कुमार ने कहा कि करीब साढ़े तीन बजे यह यह घटना घटी। उन्होंने कहा, ‘‘हम नहीं जानते कि स्थिति कैसे बिगड़ी। हम अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतिंत है। मेरा परिवार अपने घर के नजदीक ऐसी चीज देखकर डरा हुआ है।''

यह भी पढ़ें :

गृह मंत्री ने की दिल्ली के LG व CM के साथ बैठक, कई इलाकों में भड़की हिंसा

गौतम गंभीर बोले- चाहे कपिल मिश्रा ही क्यों न हो, हिंसा पर उतारू लोगों पर हो सख्त कार्रवाई

विशेष पुलिस आयुक्त सतीश गोलचा और प्रवीर रंजन ने फ्लैग मार्च की अगुवाई की। विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था, उत्तरी क्षेत्र) गोलचा ने कहा, ‘‘ हम उपयुक्त कार्रवाई कर रहे हैं। जरूरी बल का इस्तेमाल किया जा रहा है। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस और हल्के लाठीचार्ज का इस्तेमाल किया गया है। हम बदमाशों को हिरासत में लेंगे और उनके विरूद्ध उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी।''

उन्होंने कहा, ‘‘फिलहाल इलाके में पथराव रूक गया है। जबतक स्थिति नियंत्रण में नहीं आ जाती, हम वहां बने रहेंगे। यदि जरूरत महसूस हुई तो हम अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात करेंगे।''

Advertisement
Back to Top