तेज प्रताप ने खुद को बताया ‘असली लालू’, सन्न रह गए तेजस्वी के साथ पार्टी के अन्य नेता

तेज प्रताप व तेजस्वी यादव (डिजाइन फोटो) - Sakshi Samachar

पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की राजनीतिक विरासत संभालने का दावा करने वालों की कमी नहीं है। पार्टी के कई नेताओं के साथ साथ उनके बेटों में भी होड़ देखी जाती है। वैसे तो लालू प्रसाद की गैरहाजिरी में भले ही पार्टी की कमान उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने संभाल रखी है। पर कभी कभी बड़े बेटे तेज प्रताप भी कुछ ऐसा कह देते हैं, जिससे विरोधी दलों को मौका मिल जाता है।

लालू यादव के बड़े बेटे व पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव का दावा है कि बिहार का असली लालू वही हैं। तेजप्रताप ने यह बात आरजेडी की पटना में हुई रैली में बड़े जोरदार अंदाज में कही। इतना कहते ही पार्टी के नेताओं के साथ साथ तेजस्वी यादव भी एक पल के लिए सन्न रह गए थे। तभी तेजप्रताप ने छोटे भाई की ओर देखते हुए कहा कि... "अर्जुन आप घबराओ मत.... आप भी असली लालू हैं.... मैं कोई आपका मजाक नहीं उड़ा रहा हूं... आपके लिए तो हम खून का एक-एक कतरा बहा देंगे...।"

राजद के चर्चित नेता तेजप्रताप यादव आरजेडी की रैली में पूरे फार्म में देखे गए। इस दौरान तेजप्रताप यादव ने सबसे पहले तो अपने विरोधियों को ललकारा और चेतावनी देते हुए कहा कि... "जो लोग हमारे अर्जुन और मुझे जेल भेजने की तैयारी कर रहे हैं, अगर वो माई के लाल हैं तो हम दोनों भाइयों को गिरफ्तार करके दिखाएं... हम तो डंके की चोट पर रथ पर चढ़ेंगे और खुद तेजस्वी के रथ का सारथी भी बनेंगे...।"

इसे भी पढ़ें :

दीदी मीसा को दरकिनार करके क्या संदेश देना चाह रहे हैं तेजस्वी, मां-बड़े भइया हैं साथ

हालांकि रैली में तेजप्रताप यादव ने खुद बताया कि वह केवल दो लोगों से डरते हैं। वह अपने पापा लालू यादव और केवल अपने जगदानन्द अंकल से डरते हैं। उनके पार्टी में बनाए गए अनुशासन से बहुत डर लगता है।

इसके बावजूद जगदानन्द सिंह पार्टी में अनुशासन के नाम पर कड़ाई व नाराजगी दिखाने के बाद भी तेज प्रताप के समर्थकों के तेवर के आगे झुकना पड़ा और न चाहते हुए उन्हें मंच तक लाना पड़ा।

Advertisement
Back to Top