अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी को आज लाया जा सकता है भारत, दक्षिण अफ्रीका में हुई थी गिरफ्तारी

रवि पुजारी को आज भारत लाया जा सकता है।  - Sakshi Samachar

मुंबई: पिछले जनवरी में सेनेगल में जमानत पर रिहा होकर अचानक गायब होने वाले गैंगस्टर रवि पुजारी को साउथ अफ्रीका में फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। सेनेगल अधिकारियों और भारतीय एजेंसी तथा मंगलूर पुलिस ने के ज्वाइन्ट ऑपरेशन में साउथ अफ्रीका के गांव से गिरफ्तार किया है।

भारत ने इसके ताजा गिरफ्तारी को इसलिए छुपा कर रखा हुआ था कि औपचारिकताओं से बचने के लिए किया है। क्योंकि पिछली बार सरकार उसकी गिरफ्तारी के लिए काफी औपचारिकताओं से गुजरना पड़ा था।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि रविपुजारी को प्लेन में बैठा दिया गया है और उसे किसी भी समय भारत के लिए रवाना किया जा सकता है।

सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी वहां सेनेगल के अधिकारियों से संपर्क बनाए हुए हैं। अधिकारी चाहते हैं कि पिछली बार की तरह बिना समय बर्बाद किए उसका जल्द से जल्द भारत लाया जा सके।अगर प्रत्यर्पण की मांग की जाती तो काफी समय लगता।

रवि पुजारी का पासपोर्ट।

बताया जा रहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पूजारी सेनेगल में एंटोनी फर्नांडिस के नाम से पासपोर्ट बनाकर रह रहा था। यह पासपोर्ट 10 जुलाई 2013 को जारी किया गया था, जो 8 जुलाई 2023 तक वैध है।

विदेश में उसके खिलाफ दर्ज किया गया अपराध भी उसके प्रत्यर्पण में मुश्किलें पैदा कर सकती है, और यह संदेह है कि उसे पिछले साल प्रत्यर्पण से बचने के लिए खुद के खिलाफ एक धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था, क्योंकि आमतौर पर एक अपराधी को देश में किए गए अपराध के लिए उसी देश में सजा दी जा सकती है।

इसे भी पढ़ें

अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी सेनेगल में गिरफ्तार, जल्द लाया जाएगा भारत

सूत्रों ने कहा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो पुजारी को रविवार सुबह तक भारत लाया जाएगा, हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें मुंबई, मंगलुरु या दिल्ली ले जाया जाएगा।

200 से अधिक मामले हैं दर्ज

1990 के दशक में छोटा राजन सहयोगी के रूप में शुरुआत करने वाले पुजारी पर उनके खिलाफ हत्या और जबरन वसूली के 200 से अधिक अपराध हैं। पिछले साल, उसे सेनेगल अधिकारियों द्वारा धोखाधड़ी के मामले में रखा गया था। फिर वह कुछ शर्तों पर जमानत हासिल करने में सफल रहा और लापता हो गया।

सूत्रों ने कहा कि जब से वह लापता हुआ था, उसने केन्या के एक आदिवासी गांव में शरण ली थी। हालांकि, भारतीय खुफिया एजेंसियां

उसे तलाश करने में कामयाब रहीं। पुजारी के खिलाफ एक इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है और भारत में उनके खिलाफ दर्ज मामलों में से एक बॉलीवुड सितारों और एक प्रमुख उद्योगपति को धमकी जारी करने के लिए हैं।

अपराध की दुनिया का चर्चित नाम

पुजारी, जिसने "द हिंदू डॉन" होने का दावा किया था, 20 साल से विदेश में था और भारत ने उसकी गिरफ्तारी के लिए जुटी हुई थी। हालाँकि उसे पहले दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर में गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन वे रिहा हो गया था, क्योंकि भारतीय अधिकारी उनके प्रत्यर्पण की कार्यवाही को पूरा नहीं सके थे।

छोटा राजन को उस्ताद मानता था

रवि पुजारी छोटा राजन को अपना उस्ताद मानता था। राजन और पुजारी अंतरराष्ट्रीय अपराधी दाऊद इब्राहिम के लिए काम करते थे। हालांकि, 2001 में दोनों अलग हो गए। राजन फिलहाल नवी मुंबई की जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है।

माना जाता है कि जब मुंबई पुलिस ने कई शूटरों को गिरफ्तार कर लिया तो पुजारी ने बेंगलुरु को अपना अड्डा बनाया। वह मूल रूप से मैंगलोर के पदबिद्री का रहने वाला है। वह फर्राटेदार अंग्रेजी और कन्नड़ बोलता है।

पिछले साल जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के नेता उमर खालिद, स्टूडेंट एक्टिविस्ट शहला राशिद और दलित नेता और गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने पुजारी की तरफ से धमकी मिलने की शिकायत दर्ज कराई थी। उसने हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी समेत देश के खिलाफ काम कर रहे लोगों को भी धमकी दी थी।

Advertisement
Back to Top