नसबंदी के आदेश देने वाली अधिकारी पर गिरी गाज, स्वास्थ्य मंत्रालय से हटायी गईं

निदेशक छवि भारद्वाज ( फोटो सौ सोशल मीडिया)  - Sakshi Samachar

भोपाल : मध्य प्रदेश सरकार ने पुरुष नसबंदी से जुड़े विवादित निर्देशों को पूरी तरह निरस्त कर दिया है। राज्य के लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने यह जानकारी दी। साथ ही इस मामले में कार्रवाई करते हुए कमलनाथ सरकार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की राज्य निदेशक छवि भारद्वाज को भी हटा दिया है।

शुक्रवार को जारी आदेश के अनुसार छवि भारद्वाज को अब मंत्रालय में OSD बनाया गया है। वो इससे पहले कलेक्टर जबलपुर और भोपाल में नगर निगम कमिश्नर रह चुकी हैं। जबलपुर में दुर्गा विसर्जन समारोह के दौरान हुड़दंगियों को लाठी से खदेड़ने पर भी वो चर्चा में आयी थीं।


आपको बता दें कि सरकार ने पुरुष बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सूचित करते हुए आदेश जारी किया कि था यदि वे 2019-20 में नसबंदी के लिए एक भी आदमी को समझाने में विफल रहते हैं तो उन्हें अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्त कर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने दी सफाई

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने जारी सर्कुलर पर कहा था कि किसी कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी। प्रदेश में किसी के साथ जोर-जबरदस्ती नहीं होगी। केंद्र सरकार ने सर्कुलर जारी किया है। प्रदेश सरकार पूरे मामले की समीक्षा करने के बाद फैसला लेगी।

इसे भी पढ़ें :

संजय गांधी के नक्शेकदम पर चलने जा रहे हैं कमलनाथ, अफसरों को याद दिलायी नसबंदी वाली बात

अब इन ‘कुत्तों’ का भी तबादला कर रही है कमलनाथ सरकार

वहीं, जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने सफाई दी थी कि ये रूटीन आदेश है। आज देश-विदेश में सभी परिवार को लेकर सजग हैं। सभी जानते हैं कि छोटा परिवार, सुखी परिवार। अपनी संतान की परवरिश ठीक से कर सकें। कम बच्चे होने पर परिवार उन्हें ज्यादा अच्छी परवरिश दे सकता है। अनिवार्य सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) पर कर्मचारियों के डर पर मंत्री ने कहा था कि उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। वो अपना काम ईमानदारी से करें।

Advertisement
Back to Top