छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ अलग-अलग मुठभेड़ में दो नक्सली ढेर 

कॉंसेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुकमा और नारायणपुर जिलों में बुधवार को अलग-अलग मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गए और विशेष कार्यबल (एसटीएफ) का एक जवान घायल हो गया। सुकमा की घटना में, पुलिस महानिरीक्षक (बस्तर क्षेत्र) सुंदरराज पी बताया कि यह मुठभेड़ तोंदामार्का गांव में जंगल के निकट उस समय हुई जब जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) का एक दल उग्रवाद रोधी अभियान पर निकला हुआ था।

उन्होंने बताया कि कसालपाड गांव के पास एक बार और आमना-सामना हुआ जिसमें एसटीएफ का एक जवान घायल हो गया। उन्होंने बताया कि डीआरजी के अलग-अलग दस्ते, सीआरपीएफ की विशेष इकाई कोबरा और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने मंगलवार को जंगल में अभियान शुरू किया था। यह जगह राज्य की राजधानी से 450 किलोमीटर दूर है।

अधिकारी ने बताया कि डीआरजी की गश्त टीम जब चिंतागुफा-चिंतलनार के जंगल क्षेत्र की घेराबंदी कर रही थी, उसी दौरान गोलीबारी शुरू हो गई। सुरक्षा बलों ने गोलीबारी का जवाब दिया। उन्होंने बताया कि गोलीबारी थमने पर मौके से एक नक्सली का शव बरामद किया गया और क्षेत्र में तलाश अभियान जारी है।

उन्होंने बताया कि अभियान के बाद जब सुरक्षाकर्मी लौट रहे थे तो कसालपाड के पास जंगल में मुठभेड़ हुई जिसमें एसटीएफ का एक जवान घायल हो गया । मंगलवार को सुकमा के किस्ताराम इलाके में नक्सलियों के साथ गोलीबारी के दौरान कोबरा के एक कमांडर शहीद हो गए और एक अन्य घायल हो गया। एक अन्य घटना में, पुलिस ने बताया कि इकुल गांव के पास दोपहर एक बजे के करीब नारायणपुर जिले के अबूझमाड इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया गया।

इसे भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ में आपस में भिड़े ITBP के जवान, 6 की मौत, कई घायल

अबूझमाड राज्य की राजधानी से करीब 350 किलोमीटर दूर है । नारायणपुर के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने बताया, ‘‘कुछ देर गोलीबारी के बाद माओवादी घने जंगलों में भाग गए । जांच के दौरान घटनास्थल से एक नक्सली का शव मिला। '' उन्होंने बताया कि नक्सली के शव की पहचान नहीं हो पायी है।

Advertisement
Back to Top