नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि सरकार एक फरवरी को पेश होने वाले केंद्रीय बजट में अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए 'कार्य योजना' पेश करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत बनी हुई है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) द्वारा भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाये जाने के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था पुनरूद्धार के रास्ते पर है और किसी को भी इसको लेकर निराशावादी विचार नहीं रखना चाहिए।

सूचना और प्रसारण मंत्री ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘केंद्रीय बजट में आपको सरकार की कार्य योजना दिखेगी। हमारी बुनियादी काफी मजबूत है। इसीलिए किसी को भी भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर निराशावादी विचार नहीं रखना चाहिए।'' उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था पुरूत्थान के रास्ते पर है। विश्व अर्थव्यवस्था में उथल-पुथल है और उसका असर दूसरे देशों की अर्थव्यवस्था पर पड़ा है।

इसे भी पढ़ें :

प्रकाश जावडेकर बोले- NPR के लिए कोई प्रूफ की जरुरत नहीं, जनता पर है पूरा भरोसा

उल्लेखनीय है कि मुद्राकोष ने मुख्य रूप से गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र में दबाव और गांवों में आय में कमजोर वृद्धि का हवाला देते हुए सोमवार को 2019-20 के लिये भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम कर 4.8 प्रतिशत कर दिया। विपक्षी दल अर्थव्यवस्था में नरमी को लेकर सरकार की नीतियों को दोष दे रहे हैं और उसकी आलोचना कर रहे हैं।