नई दिल्ली : वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने निर्भया की मां से आग्रह किया है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की तरह उदाहरण पेश करते हुए उन चार दोषियों को माफ कर दें जिन्हें 2012 में उनकी बेटी से बलात्कार एवं हत्या के लिए फांसी की सजा सुनवायी गई है। चारों दोषियों को सामूहिक बलात्कार एवं हत्या के मामले में एक फरवरी को सुबह छह बजे फांसी दिया जाना तय किया गया है।

जयसिंह ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि वह निर्भया की मां की पीड़ा को पूरी तरह से समझती हैं, लेकिन वह उनसे ‘‘सोनिया गांधी की तरह का उदाहरण पेश करने का आग्रह करती हैं, जिन्होंने नलिनी को माफ कर दिया था और कहा था कि वह उसके लिए फांसी की सजा नहीं चाहतीं।''

जयसिंह ने कहा, ‘‘हम आपके साथ हैं, लेकिन मौत की सजा के खिलाफ हैं।'' पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या मामले में नलिनी श्रीहरण को फांसी की सजा सुनायी गई थी। सोनिया गांधी के हस्तक्षेप के बाद उसकी मौत की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील कर दिया गया था।

सोनिया गांधी ने इस आधार पर दया का आग्रह किया था कि उसकी एक पुत्री है, जिसका जन्म जेल में हुआ था। शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत ने निर्भया मामले में चार दोषियों विनय शर्मा (26), मुकेश कुमार (32), अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन (25) के खिलाफ एक फरवरी के लिए फिर से ‘मृत्यु वारंट' जारी किया।

कौन हैं इंदिरा जयसिंह

भारत की मशहूर वकील इंदिरा जयसिंह को 2018 में फॉर्च्यून मैगजीन ने दुनिया के टॉप 50 लीडर्स में 20वां स्थान दिया था। लॉयर्स कलेक्टिव नाम से वे स्वंयसेवी संस्था भी चलाती हैं। 1986 में इंदिरा जयसिंह बॉम्बे हाईकोर्ट की पहली सीनियर एडवोकेट बनी थीं। इसके अलावा 2009 में जयसिंह को भारत की पहली महिला अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल बनने का भी गौरव हासिल है।

केपीएस गिल यौन उत्पीड़न मामले में चर्चित हुई थीं इंदिरा जयसिंह

इंदिरा ने रुपन देओल बजाज के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रुपने देओल बजाज ने 1988 में पंजाब के तत्कालीन डीजीपी केपीएस गिल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। जिसमें आखिरकार केपीएस गिल को कोर्ट ने दोषी माना।

भोपाल गैस त्रासदी पीड़ितों के हक की लड़ी लड़ाई

भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को भी इंदिरा जयसिंह ने न्याय दिलाया। उनके दम पर ही हजारों लोगों को अमेरिकी कंपनी यूनियन कार्बाइड कॉरपोरेशन ने मुआवजा दिया। 2 दिसंबर 1984 में भोपाल में भीषण गैस त्रासदी की आंच आज भी महसूस की जा सकती है।

यह भी पढ़ें :

इंदिरा जयसिंह की सलाह पर भड़कीं निर्भया की मां, कही ये बड़ी बात...

क्या अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी निर्भया की मां, दिया यह जवाब

अटार्नी जनरल से भिड़ गई थीं इंदिरा जयसिंह

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान एक बार अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने इंदिरा जयसिंह को आनंद ग्रोवर की पत्नी कह दिया था। जिस पर वे बुरी तरह भड़क गई थीं उन्होंने कहा कि कोर्ट में मेरी निजी हैसियत पर टीका टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए।