नई दिल्ली : निर्भया रेप व हत्या मामले में दोषी मुकेश की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राष्ट्रपति ने दोषी मुकेश की फांसी की सजा को बरकरार रखने की सिफारिश की है। गृह मंत्रालय ने यह याचिका राष्ट्रपति को भेजी थी।

इससे पहले निर्भया के दोषी मुकेश की दया याचिका गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति को भेजी थी। सूत्रों का कहना है कि गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति से इस याचिका को खारिज कर मौत की सजा बरकरार रखने की सिफारिश की है। बताया जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति को देर रात सिफारिश भेजी है।

निर्भया मामले के एक दोषी मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाकर फांसी की सजा माफ करने का आग्रह किया है। मुकेश की याचिका को जेल प्रशासन ने दिल्ली सरकार को भेज दिया था। इस याचिका को दिल्ली सरकार ने खारिज करने की सिफारिश करते हुए बुधवार को उपराज्यपाल के पास भेज दिया था।

इसे भी पढ़ें :

सिस्टम से परेशान निर्भया के पिता ने कहा, हमारे लिए कोई कानून नहीं है

निर्भया के गुनहगारों को फांसी देने से पहले क्यों चुप हुआ पवन जल्लाद

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से निर्भया गैंगरेप मामले के दोषियों में शामिल मुकेश की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश की है। दिल्ली सरकार की ओर से मिली दया याचिका को उपराज्यपाल ने गृह मंत्रालय भेज दिया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि उपराज्यपाल ने याचिका को खारिज करने की सिफारिश की है।