नई दिल्ली : निर्भया के दोषियों की फांसी से बचने की आखिरी कोशिश भी बेकार हो गई है। सुप्रीम कोर्ट ने दो दोषियों की क्यूरेटिव याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने मंगलवार को दोषी विनय और मुकेश की याचिका खारिज कर दी है। चारों आरोपियों को 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी।

न्यायमूर्ति एनवी रमणा, न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति आरएफ नरीमन, न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने विनय शर्मा और मुकेश की ओर से दायर समीक्षा याचिका पर सुनवाई की।

मौत की सजा पाने वाले अन्य दो दोषियों अक्षय और पवन गुप्ता ने समीक्षा याचिका दायर नहीं की थी। गौरतलब है कि निचली अदालत ने चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे फांसी देने के लिए मौत का वारंट जारी कर दिया है।

यह भी पढ़ें :

निर्भया के गुनहगारों को फांसी देने से पहले क्यों चुप हुआ पवन जल्लाद

निर्भया कांड : दोषियों को फांसी पर पीड़िता की मां हुई भावुक, बोलीं-कानून पर बढ़ेगा विश्वास