मुंबई : महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की अगुवाई में सरकार बनने के बाद गुरुवार को विभागों का बंटवारा हो गया है। उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल में शिवसेना के खाते में गृहमंत्री के अलावा शहरी विकास और पर्यावरण मंत्रालाय मिला है, जबकि कांग्रेस के हिस्सेमें उच्च व तकनीकी शिक्षा, महिला बाल विकास, पीड्ब्ल्यूडी, राजस्व, स्कूल और शिक्षा विभाग मिला है, जबकि एनसीपी को फायनांस मिनिस्ट्री के अलावा सामाजिक न्याया, जल संसाधन और ग्रामीण विकास मंत्रालय मिला है।

CM उद्धव ठाकरे के पास कोई मंत्रालय नहीं है। शिवसेना के सीनियर नेता एकनाथ शिंदे को गृह सहित शहरी विकास और पर्यावरण और संसदीय कार्य सौंपा गया है।

शिवसेना नेता सुभाष देसाई को उद्योग और खनन, उच्चा और तकनीकी शिक्षा, स्पोर्ट्स और युवा विकास, कृषि, रोजगार गारंटी, परिवहन और माराठी भाषा मंत्रालय दिया गया है।

इसे भी पढ़ें:

उद्धव ठाकरे की ताजपोशी आज, NCP को डिप्टी CM तो कांग्रेस का होगा विधानसभा अध्यक्ष

एनसीपी के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल को रूरल डेवलपमेंट, सामाजिक न्याय, जल संसाधन, एक्साइज और एफडीए मंत्रालयों को जिम्मेदारी सौंपी गई है, जबकि कांग्रेस नेता बाला साहब थोराट को राजस्व, बिजली, मेडिकल एजुकेशन, स्कूली शिक्षा, डेयरी विका और मत्स्य विभाग का जिम्मा सौंपा गया है।

एनसीपी नेता जयंत पाटिल को वित्त, योजना, हाउसिंग, कोऑपरेटिव और मार्केटिंग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, श्रम और अल्पसंख्यक विकास मंत्रालय मिला है। कांग्रेस नेता नितिन राउत को एमएसआरडीसी, आदिवासी विकास, महिला एवं बाल विकास, राहत और पुनर्वास और ओबीसी मंत्रालय शामिल है।