नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली के लिए रविवार की सुबह बुरी खबर लेकर आई। अनाज मंडी के फिल्मिस्तान इलाके में एक इमारत में लगी आग से 43 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। चश्मदीदों ने बताया कि आग शॉर्ट शर्किट की वजह से लगी है।

मौजूद लोगों ने बताया कि इमारत एक रिहायशी इलाके में है, जिसमें अवैध तरीक से फैक्ट्री चलती थी। इस फैक्ट्री में पैकेजिंग और बैग बनाने का काम चलता था।

लोगों में इस बात का आक्रोश है कि कैसे राजधानी में इतनी बड़ी लापरवाही हो सकती है कि सालों साल तक एक अवैध फैक्ट्री में काम होता है और स्थानीय प्रशासन खामोश रहता है।

कौन है दोषी

फायर ब्रिगेड ने काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू जरूर पा लिया है, लेकिन यह सवाल सभी के मन में है कि आखिर लापरवाही किसकी थी, जिसकी वजह से यह भीषण अग्निकांड हुआ।

यह भी पढ़ें :

अग्नि सुरक्षा जागरूकता : आग लगने पर बरतें ये सावधानियां, इन बातों का रखें ख्याल

दिल्ली के अनाज मंडी में भीषण अग्निकांड, 43 लोगों की मौत, 50 को सुरक्षित निकाला गया

लोगों ने बताया कि इमारत में फैक्ट्री काफी दिन से चल रही थी। यह फैक्ट्री पूरी तरह से अवैध थी। इसमें किसी तरह का कोई संसाधन नहीं था, जिससे आग पर काबू पाया जा सके। आग से बचाव के भी कोई उपकरण नहीं लगे थे। ऐसे में सवाल प्रशासन के ऊपर उठ रहे हैं कि कैसे इतनी बड़ी गतली नजरअंदाज की जा सकती है।