नई दिल्ली : दिल्ली के अनाज मंडी इलाके स्थित चार मंजिला इमारत में रविवार को आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई। इस घटना में जान गवां चुके एक शख्स और उसके दोस्त के बीच हुई आखिरी कॉल की ऑडियो क्लिप वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि यह कॉल आग की लपटों में घिरे और धुएं से परेशान मुशर्रफ नाम के युवक ने अपने दोस्त को की थी। वायरल हो रही यह ऑडियो क्लिप करीब साढ़े तीन मिनट की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक साढ़े तीन मिनट की बातचीत के ऑडियो में वह बार-बार दोस्त से अपने परिवार और बच्चों का ध्यान रखने की गुहार लगाता रहा। मुशर्रफ ने दोस्त को बताया कि यहां आग लग गई है और बचने का कोई रास्ता नहीं है। बता दें कि मृतक मुशर्रफ अली यूपी के बिजौनर जिले का रहने वाला है था। उसकी तीन बेटियां और एक बेटा है।

मुशर्रफ ने दोस्त (मोनू) को कॉल किया- हैलो मोनू, भैया आज खत्म होने वाला है। आग लग गई है। आ जइयो करोलबाग। टाइम कम है और भागने का कोई रास्ता नहीं है। खत्म हुआ भैया मैं तो, घर का ध्यान रखना। अब तो सांस भी नहीं ली जा रही।

जब मुशर्रफ के भाई ने उसे खुद को बचाने की कोशिश करने के लिए कहा, तो उसने कहा, 'अब कोई रास्ता नहीं बचा है। सांस भी नहीं लिया जा रहा है। आग चारों तरफ से फैल रही है. मैं मरने वाला हूं भाई, बस तीन-चार मिनट बाकी हैं ...यह सब भगवान की मर्जी है।

क्या है मामला ?

बताया जा रहा है कि यह आग रविवार को सुबह 5.22 बजे लगी। इस इमारत में ही फैक्ट्री में काम करने वाले लोग अपने परिवारों के साथ रहते थे। सुबह होने की वजह से ज्यादातर लोग सो रहे थे। इस वजह से ज्यादातर लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, अरविंद केजरीवाल समेत तमाम नेताओं ने दुख व्यक्त किया है। इसके अलावा आप और भाजपा नेताओं ने हादसे वाली जगह का दौरा भी किया।

बिल्डिंग मालिक का भाई हिरासत में लिए गए

जिस इमारत में आग लगी उसके मालिक और उसके भाई को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस ने सभी पर गैरइरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है। मारे गए लोगों में ज्यादातर लोग बिहार के बेगुसराय, समस्तीपुर के हैं। कुछ मृतक यूपी के अलग अलग जिलों से भी हैं।

तीन फैक्ट्रियां चल रही थीं

रिहाइशी इलाके में अवैध तरीके से फैक्ट्री चल रही थी। फैक्ट्रियों में स्कूल बैग, बोतलें, जैकेट समेत तमाम सामान बन रहा था। यह इमारत 600 स्क्वैयर फीट जगह में बनी थी।