नई दिल्ली : दिल्ली में साल 2012 में हुए सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई निर्भया के परिजन ने शुक्रवार को दिशा हत्याकांड के आरोपियों के मुठभेड़ में मार गिराए जाने को लेकर तेलंगाना पुलिस की पीठ थपथपाई है।

उन्होंने कहा, "मेरा मानना है कि उन्होंने बहुत की अच्छा काम किया। अगर वे भाग जाते तो यह सवाल उठता कि पुलिस ने उन्हें भागने कैसे दिया। वहीं उन्हें दोबारा गिरफ्तार करना भी मुश्किल होता। अगर वे गिरफ्तार हो भी जाते तो उन्हें सजा देने की पूरी प्रक्रिया में बहुत अधिक समय लग जाता।"

निर्भया की मां ने कहा कि मैं इस सजा से बहुत खुश हूं। पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया है और मेरी मांग है कि पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं पिछले 7 सालों से न्याय के लिए दौड़ रही हूं। मैं देश की सरकार और न्याय प्रणाली से अपील करती हूं कि निर्भया के दोषियों को जल्द से जल्द मौत की सजा दी जाए।

आपको बता दें हैदराबाद की डॉक्टर दिशा के साथ 27 नवंबर की रात शमशाबाद में आउटर रिंग रोड के पास चार लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसके बाद चारों ने घटनास्थल से 28 किलोमीटर दूर शादनगर शहर के पास शव ले जाकर उसे आग के हवाले कर दिया था।

यह भी पढ़ें :

दिशा के गुनहगारों को पुलिस ने मुठभेड़ में किया ढेर, देखें Video

दिशा केस के चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में ढेर, भागने की कर रहे थे कोशिश

पुलिस चारों आरोपियों को शुक्रवार की सुबह को घटना को दोबारा रीक्रिएट करने के लिए घटनास्थल पर लेकर आई थी। कथित तौर पर चारों आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की थी, जिसके बाद पुलिस मुठभेड़ में वे मारे गए।

-आईएएनएस