हैदराबाद : लेडी डॉक्टर गैंगरेप केस में सभी चारों आरोपियों को आरोपियों को हैदराबाद के पास चेरापल्ली की हाई सिक्योरिटी जेल में रखा गया है। चारों आरोपियों को जेल में लंच में दाल-राइव और डिनर में मटन करी दिया गया है। आरोपियों को यह खाना जेल मैन्यूअल के मुताबिक ही परोसा गया है।

बता दें कि हैदराबाद की महिला डॉक्टर के साथ 4 लोगों ने रेप किया था और फिर उसकी निर्मम हत्या कर दी थी। यही नहीं उन्होंने लाश की शिनाख्त ना हो पाए इसलिए उस पर पेट्रोल डालकर जला दिया था।

क्या है मामला ?

बुधवार की रात लेडी डॉक्टर अपने स्कूटी से किसी काम की वजह से घर से बाहर गई थी। रात करीब 9 बजकर 22 मिनट पर उसकी स्कूटी पंक्चर हो गई थी और इसके बाद दो आरोपियों ने उसे मदद की पेशकश की थी। उन्होंने महिला को अलग जगह ले गए। इसके बाद दोनों आरोपियों ने अपने दो और दोस्तों को बुला लिया। इसके बाद उन सभी ने बारी-बारी से डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया। बाद में पता चला कि आरोपियों ने साजिश के तहत महिला की स्कूटी पंक्चर कर दी थी

चटानपल्ली में मिला शव...

गुरुवार तड़के शादनगर के सीमावर्ती क्षेत्र चटानपल्ली के पास आग देखकर स्थानीय किसानों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और लाश की पहचान करने के साथ ही मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई।

इसे भी पढ़ें

जानिए कैसे हुई प्रियंका रेड्डी की हत्या, हैदराबाद का सनसनीखेज कांड

संसद तक पहुंची हैदराबाद की ‘दिशा’ की चीख, बीच चौराहे रेपिस्ट को लटकाने की उठी मांग

फोन पर बहन को बताई थी यह बात

लेडी डॉक्टर रात 9.22 बजे अपनी छोटी बहन को फोन कर बताया कि उसकी स्कूटी का टायर पंक्चर हुआ है और एक युवक उसे जोड़कर लाने के लिए गया है। उसने कहा, 'बगल में लॉरी में कुछ लोग हैं जो मुझे घूर रहे हैं। यहां चारों तरफ लॉरी ड्राइवर हैं और उन्हें देखकर डर लगने लगा है और सभी मेरी तरफ देख रहे हैं।' लेडी डॉक्टर ने बहन से कुछ देर तक फोन पर बातें करने की अपील की। इस तरह करीब 6 मिनट तक प्रियंका अपनी बहन से फोन पर बातें करती रही. लेकिन उसके बाद प्रियंका का फोन स्विच ऑफ हो गया।