पंचकूला : बलात्कार के मामलों में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसा और अन्य 39 लोगों के खिलाफ 2017 हिंसा मामले में यहां एक अदालत ने आरोप तय किए हैं। डेरा प्रमुख को बलात्कार के दो मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद उसके समर्थकों ने अगस्त 2017 में प्रदर्शन किया था।

इस दौरान हुई हिंसा में 36 लोगों की जान चली गई थी। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रोहित वत्स की अदालत ने दंगा करने और गैरकानूनी तरीके से एकत्रित होने सहित भारतीय दंड संहिता की अन्य धाराओं के तहत बुधवार को आरोप तय किए । बचाव पक्ष के वकील ने बताया कि हनीप्रीत उर्फ प्रियंका तनेजा इस दौरान अदालत में मौजूद थीं।

इसे भी पढ़ें

हनीप्रीत की उम्मीदों पर फिरा पानी, जेल में रोता रहा राम रहीम

गुरमीत राम रहीम के काले साम्राज्य का काला सच, नहीं जानते होंगे आप

हरियाणा के पंचकूला में अगस्त 2017 में हुई हिंसा के संबंध में हनीप्रीत के खिलाफ इससे पहले आपराधिक साजिश रचने और राजद्रोह के आरोप भी तय किए जा चुके हैं। अदालत ने हालांकि उसके खिलाफ राजद्रोह के मामले को खारिज कर दिया है। करीब एक पखवाड़े पहले उसे मामले में जमानत भी दे दी गई थी।