अहमदाबाद : गुजरात पुलिस ने गुरुवार को बताया कि स्वयंभू बाबा नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है। नित्यानंद के खिलाफ फौजदारी मामला दर्ज है । मामले में उसके खिलाफ सबूत जुटाने के लिए पुलिस ने उसकी दो महिला अनुयायियों को भी गिरफ्तार किया है ।

पुलिस ने बुधवार को अहमदाबाद में अपना आश्रम योगिनी सर्वज्ञपीठम चलाने के लिए बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें बंधक बनाकर अनुयायियों से चंदा जुटाने के काम में लगाने के आरोप में स्वयंभू बाबा स्वामी नित्यानंद के खिलाफ एक मामला दर्ज किया था।

अहमदाबाद (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक एस. वी. असारी ने बताया कि नित्यानंद विदेश भाग गया है और अगर जरूरत पड़ी तो गुजरात पुलिस उचित माध्यम के जरिए उसकी हिरासत हासिल करेगी। नित्यानंद कर्नाटक में उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद ही देश छोड़कर भाग गया था और उसे यहां ढूंढना समय की बर्बादी होगी। असारी ने कहा, ‘‘ जरूरत पड़ने पर, हम उचित माध्यम के जरिए उसकी हिरासत हासिल करेंगे। उसके भारत आने के बाद हम यकीनन उसको गिरफ्तार करेंगे।''

पुलिस ने मंगलवार को उसकी दो महिला अनुयायियों- साध्वी प्राण प्रियानंद और प्रियातत्व रिद्धि किरण को भी गिरफ्तार किया था। दोनों पर कम से कम चार बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें एक फ्लैट में बंधक बनाकर रखने का आरोप है।

ग्रामीण अदालत ने बुधवार शाम दोनों को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था और पुलिस उपाधीक्षक (अहमदाबाद ग्रामीण) के. टी. कमरिया उनसे पूछताछ करे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस नित्यानंद के आश्रम से लापता हुई एक महिला के मामले में भी जांच कर रही है।

महिला के पिता जनार्दन शर्मा ने विवेकानंद पुलिस थाने में उसके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। इस बीच, गुजरात के गृह मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने कहा कि मामले में शामिल किसी भी शख्स को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि डीजीपी ने मामले की गहन जांच के लिए संबंधित एसपी को एक टीम का गठन करने का निर्देश दिया है।

जडेजा ने कहा, ‘‘ डीजीपी ने मामले की गहन जांच के लिए संबंधित एसपी से एक टीम का गठन करने को कहा है और मामले में संलिप्त हर व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।''