नई दिल्ली : संसद के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पर सांसदों के सवालों के जवाब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दे रहे हैं। इंटरनेट बंद होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कश्मीर में स्थित सामान्य है। हालात सुधर रहे हैं। सुरक्षा के सवाल है इस कारण इंटरनेट बंद है। इंटरनेट पर स्थानीय प्रशासन फैसला लेगा।

अस्पतालों में दवाओं के सवाल पर उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में जरुरी दवाएं उपलब्ध हैं। अगर किसी के पास कोई सूचना है कहीं दूर इलाके की भी तो वह मुझसे कभी भी संपर्क कर सकता है, उसे मदद पहुंचाई जाएगी। घाटी के सभी हॉस्पिटल खुले हैं।

20411 स्कूल खुले हैं वहां परीक्षाएं भी हो रही है। कश्मीर में कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि एक भी व्यक्ति की जान पुलिस फायरिंग में नहीं हुई। उन्होंने कहा कि कश्मीर में एक भी नागरिक की मौत सुरक्षा बलों की गोली से नहीं हुई। घाटी के किसी भी थाने में कर्फ्यू नहीं लगा। कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं में भी कमी आई है।

एनआरसी पर अमित शाह

एनआरसी पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि किसी धर्म को इससे डरने की जरुरत नहीं है। गरीब लोगों को सरकार कानूनी सहायता भी उपलब्ध कराएंगी। एनआरसी की प्रक्रिया सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शुरू हुई। जिनके नाम छूटे हैं वे ट्रिब्यूनल में जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :

महाराष्ट्र में सरकार पर सस्पेंस के बीच आज पीएम मोदी से मिलेंगे शरद पवार

महाराष्ट्र में सरकार गठन की तस्वीर अब भी साफ नहीं, एनसीपी-कांग्रेस की बैठक आज

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन से जुड़ी रिपोर्ट पेश

राज्यसभा में महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के मसले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने रिपोर्ट पेश की। आज शहरी मामलों से जुड़ी संसदीय कमेटी प्रदूषण पर भी चर्चा करेगी। बता दें कि मंगलवार को लोकसभा में प्रदूषण के बिगड़ते हालात को लेकर चर्चा हुई थी।