बलिया : उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर तीखा हमला किया है और उनकी तुलना आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के मारे जा चुके सरगना अबू बक्र-अल बगदादी से की।

रिजवी ने आरोप लगाया है कि ओवैसी अपने भाषणों के जरिए मुसलमानों को आतंक और खूनखराबे के कामों की ओर धकेल रहे हैं।

उन्होंने कहा, "आज अबू बक्र-अल बगदादी और असदुद्दीन ओवैसी के बीच कोई फर्क नहीं है। बगदादी के पास एक सेना और हथियार और गोला-बारूद था जिसे वह आतंक फैलाने के लिए इस्तेमाल करता था। ओवैसी अपनी 'जबान' (भाषणों) के जरिए आतंक पैदा कर रहे हैं। वह मुसलमानों को आतंक और खूनखराबे के कामों की ओर धकेल रहे हैं। उनके और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर प्रतिबंध लगाने का यह सही समय है।"

इसे भी पढ़ें

शिया वक्फ बोर्ड प्रमुख वसीम रिजवी को चाहिए सुरक्षा, हत्या के तीन साजिशकर्ता गिरफ्तार

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, मोदी दोबारा पीएम नहीं बने तो कर लूंगा आत्महत्या

अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के हालिया ऐतिहासिक फैसले पर एआईएमआईएम प्रमुख के विचार के बाद ओवैसी के खिलाफ रिजवी की यह टिप्पणी आई है। ओवैसी ने अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अपना असंतोष व्यक्त किया है।

रिजवी अपने भाजपा समर्थक रुख के लिए जाने जाते हैं और उन्होंने हाल ही में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 51,000 रुपये दान किए हैं। उन्होंने इस मुद्दे पर अदालत के फैसले का भी स्वागत किया है।