मुंबई : शिवसेना नेता संजय राउत ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र के वृहद हित में पार्टी के लिए भाजपा नीत गठबंधन में बने रहना जरुरी है लेकिन ‘‘सम्मान'' से समझौता किए बगैर। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि महाराष्ट्र की कुंडली तो हम ही बनाएंगे। कुंडली में कौन सा ग्रह कहां रखना है और कौन से तारे जमीन पर उतारने हैं, किस तारे को चमक देनी है, इतनी ताकत आज भी शिव सेना के पास है।

उन्होंने कहा कि अगली सरकार बनाने में कोई जल्दबाजी नहीं है और उन्होंने उन कयासों को खारिज कर दिया कि अगर नयी मंत्रिपरिषद के गठन में देरी होती है तो शिवसेना बंट सकती है। पत्रकारों से बात करते हुए राउत ने कहा कि राज्य के हित में शिवसेना के लिए भगवा गठबंधन में बने रहना जरुरी है लेकिन ‘‘सम्मान'' भी महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़ें

देवेंद्र फडणवीस ने सभी दलों का किया शुक्रिया, चुने गए विधायक दल के नेता

महाराष्ट्र में अड़ी शिवसेना, बोली-’’ यहां कोई दुष्यंत नहीं है, जिसके पिता जेल में हों’’

बता दें कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना और बीजेपी में मंथन जारी है. दोनों ही पार्टियों की ओर से जमकर बयानबाजी भी हो रही है। बीते दिनों शिवसेना नेता संजय राउत ने बयान दिया था कि भारतीय जनता पार्टी को 50-50 फॉर्मूले का वादा निभाना चाहिए और गठबंधन धर्म निभाना चाहिए। इसी दौरान संजय राउत ने कहा था कि शिवसेना के पास कई विकल्प हैं, लेकिन हम उनपर विचार नहीं करना चाहते हैं।