अहमदाबाद : गुजरात एटीएस ने हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्या मामले में मंगलवार को वांछित दो लोगों को गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने बताया कि 18 अक्टूबर को लखनऊ में तिवारी की हत्या के बाद सूरत के निवासी आरोपी अशफाक शेख (34) और मोइनुद्दीन पठान (27) फरार थे ।

गुजरात आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) के पुलिस उपमहानिरीक्षक हिमांशु शुक्ला ने बताया कि मंगलवार शाम गुजरात-राजस्थान सीमा पर शामलाजी के पास से उन्हें तब गिरफ्तार किया गया जब वे गुजरात में घुसने वाले थे ।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि तकनीकी सर्विलांस के जरिए उनकी स्थिति का पता लगाया गया, जब दोनों ने फरार होने के बाद अपने परिवार और दोस्तों से बात की। दोनों को हिंदू समाज पार्टी के प्रमुख तिवारी की हत्या की जांच कर रही उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले किया जाएगा ।

परिवार ने जताया संतोष

दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद परिवार ने संतोष जताया है। उनका कहना है कि कानून अब जल्द से जल्द आरोपियों कड़ी से कड़ी सजा दे।

इसे भी पढ़ें

दर्जी ने रची थी कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश, इस सबूत की वजह से पकड़े गए आरोपी

कमलेश तिवारी की हत्या में पाकिस्तान लिंक आया सामने, बेेटे ने की NIA जांच की मांग !

कमलेश तिवारी मर्डर में बड़ा खुलासा, होटल से बरामद हुआ खून से सना कुर्ता और तौलिया

क्या है मामला

हिंदू समाज पार्टी बनाने के पहले हिंदू महासभा के एक धड़े से जुड़े रहे तिवारी (45) की हत्या लखनऊ के नाका हिंडोला इलाके में उनके घर में कर दी गयी थी। हत्या मामले में सूरत के तीन लोगों और महाराष्ट्र के नागपुर से एक व्यक्ति के साथ कुल छह लोगों को पहले ही हिरासत में लिया जा चुका है ।