श्रीनगर : भारतीय सेना ने पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में आतंकी कैंपों पर बड़ी कार्रवाई की है। सेना की इस कार्रवाई में कई आतंकी ठिकाने पूरी तरह से तबाह हो गए हैं। जम्मू-कश्मीर में रविवार को कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्टर में जवाबी गोलीबारी में सेना ने जैश-ए-मोहम्मद व हिजबुल मुजाहिदीन के 35 आतंकवादियों को मार गिराया।

रक्षा सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान सेना ने कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर भारतीय नागरिक व सैन्य सुविधाओं पर अकारण गोलीबारी की।

सूत्रों ने कहा, "पाकिस्तान की अकारण गोलीबारी में सेना के दो जवान व एक नागरिक मारा गया। इसमें तीन अन्य घायल हो गए, जिसमें दो जवान व एक नागरिक शामिल है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।"

सूत्रों ने कहा, "जवाबी फायरिंग में जब भारतीय सेना द्वारा नियंत्रण रेखा के पार सात लांच पैड्स को निशाना बनाया गया तो 35 आतंकवादी मारे गए।"

इलाके से आई रपटों में कहा गया है कि दोनों पक्षों के सशस्त्र बलों के बीच अभी भी गोलीबारी जारी है। यह गोलीबारी 19-20 अक्टूबर की दरम्यानी रात को शुरू हुई थी।

सूत्रों के अनुसार, दिन की रिपोर्ट में कहा गया कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में चार आतंकवादी लॉन्च पैड्स को तबाह किया, जिसमें कम से कम चार पाकिस्तानी सैनिक मारे गए।

भारतीय सेना द्वारा तोप से की गई गोलाबारी में पाकिस्तानी सेना की चौकियों को नुकसान पहुंचा, जिससे दुश्मन पक्ष को ज्यादा चोटें आईं। सेना के सूत्रों ने कहा कि आतंकवादी लॉन्च पैड पर हमला पाकिस्तान सेना द्वारा भारतीय क्षेत्र में आतंकवादियों को प्रवेश देने में मदद के जवाब में किया गया। सेना ने आतंकवादी शिविरों पर निशाना साधने के लिए तोपों का इस्तेमाल किया।

यह भी पढ़ें :

कश्मीर पर तुर्की ने दिया पाकिस्तान का साथ, पीएम मोदी ने रद्द की यात्रा

LOC पर पाक की नापाक हरकत, गोलीबारी में 2 जवान और 1 नागरिक की मौत, 7 घायल

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह व सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास एक सामरिक पुल के उद्घाटन के लिए लद्दाख के दौरे से एक दिन पहले यह घटनाक्रम सामने आया है।