चंडीगढ़ : हरियाणा में 90 विधानसभा क्षेत्रों के चुनाव के लिए सोमवार सुबह मतदान शुरू हो गया। अधिकारियों ने बताया कि मतदान सुबह सात बजे से जारी है। हरियाणा में अब तक 3.41 फीसद वोटिंग हुई है। शुरुआती दौर में हिसार में सबसे अधिक वोटिंग हुई है। इसके बाद फतेहाबाद का नंबर है। 

वोटिंग का यह सिलसिला शाम छह बजे तक जारी रहेगा। विभिन्न राजनीतिक दलों से 105 महिलाओं सहित 1,169 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। चुनाव लड़ रही प्रमुख हस्तियों में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, जेजेपी के दुष्यंत चौटाला और इनेलो के अभय सिंह चौटाला शामिल हैं।

सोनीपत में सुबह मतदान करने वालों में हरियाणा की एकमात्र महिला मंत्री कविता जैन शामिल हैं। खट्टर के नेतृत्व में भाजपा ने 75 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है, जबकि कांग्रेस राज्य में वापसी करने की उम्मीद कर रही है।

वर्तमान में राज्य विधानसभा में भाजपा के 48 सदस्य हैं। हरियाणा के मुख्य चुनाव अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि कुल 19,578 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें से 13,837 केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों में हैं।

पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने बताया कि सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और 75,000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। इस चुनाव में 1.83 करोड़ से अधिक मतदाता मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें 85 लाख महिलाएं, एक लाख से अधिक सेवा मतदाता और 252 ट्रांसजेंडर शामिल हैं।

चौटाला परिवार में विवाद के बाद पिछले साल दिसंबर में यह पार्टी बनी थी। हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने कहा कि 19,578 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे।

पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने शनिवार को कहा कि सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और चुनाव के लिए 75 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। प्रदेश में एक करोड़ 83 लाख से ज्यादा मतदाता हैं जिनमें से 85 लाख महिलाएं और 252 ट्रांसजेंडर हैं।

विधानसभा चुनाव के लिए 27,611 वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा। प्रदेश में मुख्य मुकाबला भाजपा, कांग्रेस और जजपा के बीच है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हालांकि दावा किया कि विपक्ष “अव्यवस्थित” है और भाजपा से कोई मुकाबला नहीं कर सकता।

बसपा, आप, इनेलो-शिअद गठबंधन, स्वराज भारत और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी भी चुनाव मैदान में हैं। हालांकि, इनमें से किसी भी दल ने सभी 90 सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। भाजपा 2014 के विधानसभा चुनाव में पहली बार अपने दम पर हरियाणा में सत्ता में आई थी।

इसे भी पढ़ें :

हरियाणा चुनाव में क्या इन 5 खामियों के बाद दोबारा वापसी करेगी बीजेपी ?

हरियाणा चुनाव में बसपा को झटका, करतार सिंह भड़ाना भाजपा में शामिल

इस चुनाव में जो प्रमुख उम्मीदवार हैं, उनमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (करनाल), पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस विधायक दल के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा (गढ़ी सांपला-किलोई), रणदीप सिंह सुरजेवाला (कैथल), किरण चौधरी (तोशाम) और कुलदीप बिश्नोई (आदमपुर) तथा हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष कंवर पाल गुर्जर (जगाधरी) शामिल हैं।

इसके अलावा जजपा के दुष्यंत चौटाला (उचाना कलां), इनेलो के अभय सिंह चौटाला (ऐलनाबाद), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला (टोहाना), एक मात्र महिला मंत्री कविता जैन (सोनीपत), मंत्री रामबिलास शर्मा (महेंद्रगढ़), अनिल विज (अंबाला छावनी), ओ पी धनखड़ (बादली) और कैप्टन अभिमन्यु (नारनौंद) भी मैदान में हैं। भाजपा ने चुनाव में तीन खिलाड़ियों बबीता फोगाट (दादरी), योगेश्वर दत्त (सोनीपत के बड़ौदा) और संदीप सिंह (पिहोवा) को भी टिकट दिया है।