नई दिल्ली : संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर के बीच हो सकता है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक बुधवार को हुई, जिसमें संसद के शीतकालीन सत्र की तिथि और रणनीति पर चर्चा की गई।

सरकार ने हालांकि अभी तिथि की घोषणा नहीं की है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर के बीच हो सकता है।

इनकम टैक्स एक्ट 1961 और फाइनेंस एक्ट 2019 पर सरकार अध्यादेश ला चुकी है। आगामी सत्र में इस अध्यादेश पर फैसला होने की उम्मीद है। मंद पड़ी अर्थव्यवस्था और विकास दर में तेजी लाने के लिए सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में भारी छूट दी है। सरकार इस कदम से नए और देशी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को राहत देना चाहती है। इनकम टैक्स एक्ट का अध्यादेश इसी से जुड़ा है। यह अध्यादेश सितंबर महीने में लाया गया था।

इसे भी पढ़ें :

कश्मीर मसले पर पाकिस्तानी संसद में कोहराम, ‘रफुचक्कर’ हुए पीएम इमरान

दूसरा अध्यादेश भी पिछले महीने लाया गया जो ई-सिगरेट और इससे जुड़े उपकरणों के निर्माण, स्टोरेज और बिक्री से जुड़ा है। आगामी सत्र में इस पर भी सरकार कानून बना सकती है।