नई दिल्ली : कोलकाता के पूर्व शीर्ष पुलिस अधिकारी राजीव कुमार के लिए मुसीबतें बढ़ती दिख रही हैं। राजीव कुमार सारदा चिट फंड मामले में पूछताछ के लिए केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) के सम्मन से बच रहे हैं। एजेंसी ने उनकी जगह का पता लगाने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया है।

सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। सीबीआई में उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा, "हम जल्द से जल्द जांच में शामिल होने के लिए राजीव कुमार के ठिकाने या उनकी जगह का पता लगाने के लिए एक विशेष टीम गठित कर रहे हैं।"

एजेंसी की कार्रवाई पूर्व कोलकाता पुलिस आयुक्त के तीन समनों की उपेक्षा किए जाने के बाद की गई है। यह समन राजीव कुमार को सीबीआई द्वारा शुक्रवार से भेजे गए हैं।

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी मंगलवार को सीबीआई के कोलकाता में साल्ट लेक कार्यालय में पेश होने में विफल रहे।

सूत्र ने कहा कि सीबीआई ने सोमवार को कुमार को मंगलवार को अपने समक्ष सुबह 10 बजे पेश होने के लिए स्म्मन भेजा था। लेकिन वह फिर से एजेंसी के समक्ष पेश होने में विफल रहे। कुमार को एजेंसी के समक्ष शनिवार व सोमवार को भी पेश होने के लिए कहा गया था।