चिन्मयानंद के समर्थन में उतरे दो संगठन, दारा सेना के अध्यक्ष ने लड़कियों को बताया ‘विषकन्या’

दारा सेना अध्यक्ष मुकेश जैन  - Sakshi Samachar

अपने विवादित कारनामों की बदौलत पिछले कुछ समय से स्वामी चिन्मयानंद सुर्खियों में हैं और सोमवार को शाहजहांपुर में चिन्मयानंद स्वामी के समर्थन में शाहजहांपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के अध्यक्ष स्वामी ओम के साथ पहुंचे दारा सेना के अध्यक्ष ने लड़कियों को विषकन्या बताया, जिससे वहां हंगामा खड़ा हो गया।

देखते ही देखते मुकेश जैन की यह टिप्पणी आग की तरह फैल जाने के बाद यहां के कई थानों में मुकेश जैन के खिलाफ शिकायतें दर्ज हुई हैं। चिन्मयानंद के समर्थन में आयोजित एक प्रेस वार्ता में स्वामी ओम कुछ बोल रहे थे कि तभी दारा सेना अध्यक्ष मुकेश जैन ने कहा कि कानून के प्रावधानों के तहत ही किसी की बदनाम किया जाए।

शाहजहांपुर में है विषकन्याओं का गैंग

उन्होंने कहा कि जो लड़कियां स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ खड़ी हो रही हैं। मुख्य रूप से शाहजहांपुर की, उनका एक गैंग और वे सभी विष कन्याएं हैं, जो किसी पर भी आरोप लगा सकती हैं।मुकेश जैन की यह बात सुनते ही कार्यक्रम में उपस्थित कुछ लोग इसपर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुए हंगामे पर उतर गए।

इसे भी पढ़ें :

चिन्मयानंद को सुप्रीम कोर्ट से झटका, योगी सरकार को दिया SIT गठित करने का निर्देश

मीडिया कर्मियों ने जब उनके इस बयान पर सवाल किया, तो वह तुरंत पलट गए और कहा कि उनका यह बयान केवल स्वामी चिन्मयानंद और आसाराम पर आरोप लगाने वाली लड़कियों के लिए ही था। बाद में दारा सेना प्रमुख के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी जमकर आलोचनी शुरू हो गई। इस बीच, स्थानीय वकील ऋचा सक्सेना ने लड़कियों को लेकर मुकेश जैन द्वारा टिप्पणी पर आपत्ति व्यक्त करते हुए थाने में शिकायत कर दी।

वीएचपी और बजरंदल का विरोध

इस बीच, अंतर्राष्ट्रीय विश्व हिन्दू परिषद और राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुए जलालाबाद कोतवाली में आरोपियों के खिलाफ शिकायत की।

इसे भी पढ़ें :

कड़ी सुरक्षा में कोर्ट पहुंची विक्टिम, बयान के बाद हो सकती है चिन्मयानंद की गिरफ्तारी

चिन्मयानंद कांड: पूछताछ के बाद स्वामी की घेराबंदी शुरू, कभी भी हो सकते हैं अरेस्ट..!

राष्ट्रीय बजरंग दल के जिला उपाध्यक्ष विपिन सिंह व तहसील अध्यक्ष अमित दीक्षित की ओर से संयुक्त रूप से दी गई तहरीर में आरोप लगाया गया है कि रविवार को स्वामी चिन्मयानंद के समर्थन में दो लोगों द्वारा की गई प्रेसवार्ता में शाहजहांपुर की महिलाओं व लड़कियों को विषकन्या बताकर पूरी मातृशक्ति का अपमान किया है जो अक्षम्य अपराध है।

तहरीर में उन दोनों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की गई है। इस दौरान क्षितिज गुप्ता, सिद्धार्थ सिंह, बाबू मिश्रा व चिराग मिश्रा समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement
Back to Top