झारखंड HC के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश प्रशांत कुमार का निधन

जस्टिस प्रशांत कुमार के पार्थिव शरीर पर श्रद्धांजलि देते लोग  - Sakshi Samachar

रांची : झारखंड उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश प्रशांत कुमार का लंबी बीमारी के बाद आज सुबह निधन हो गया। वह मधुमेह से पीड़ित थे जिसकी वजह से उनकी गुर्दे खराब हो गये थे। झारखंड उच्च न्यायालय के प्रवक्ता ने बताया कि कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश प्रशांत कुमार का शुक्रवार की सुबह पांच बजकर 16 मिनट पर निधन हो गया।

प्रवक्ता ने बताया कि वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। शुगर की वजह से उनकी किडनी भी प्रभावित हो गयी थी, जिसकी वजह से उनका डायलिसिस भी किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि कल ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और शुक्रवार की सुबह पांच बजे उन्हें दिल का दौरा पड़ा और 5.16 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

उन्होंने बताया कि वह उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के गुहियां छपरा के रहने वाले थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी अल्का श्रीवास्तव एवं उनकी दो विवाहित पुत्रियां हैं। उनके पार्थिव शरीर को सबसे पहले डोरंडा स्थित उनके आवास पर लाया गया । निधन की सूचना मिलने के बाद उच्च न्यायालय के सभी न्यायाधीश, महाधिवक्ता सहित अन्य अधिवक्ता भी वहां पहुंचे। प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुवर दास आज सुबह उनके आवास पहुंचे और उन्होंने उन्हें श्रद्धांजलि दी।


दोपहर दो बजे उनका पार्थिव शरीर झारखंड उच्च न्यायालय लाया गया। जहां उच्च न्यायालय के सभी न्यायाधीशों, महाधिवक्ता, अपर महाधिवक्ता, राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों एवं वकीलों उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। आज शाम चार बजे हरमू के मुक्ति धाम में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनकी पुत्री जूही प्रशांत ने उन्हें मुखाग्नि दी।

इसे भी पढ़ें :

झारखंड में मिशन 65+ पूरा करने के लिए भाजपा लगाएगी जोर, नड्डा ने दिए टिप्स

इस दौरान उनकी छोटी बेटी नेहा प्रशांत भी मौजूद थीं। न्यायमूर्ति प्रशांत के निधन पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास समेत तमाम लोगों ने शोक एवं संवेदना प्रकट की है। आज न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार के निधन के बाद उच्च न्यायालय समेत राज्य की सभी अदालतों की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार इसी वर्ष सात जून को झारखंड के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बने थे। 10 मई 2019 को उनका इलाहाबाद उच्च न्यायालय से झारखंड स्थानांतरण किया गया था।

Advertisement
Back to Top