DCP पार्थसारथी करेंगे चिदंबरम से पूछताछ, दोपहर बाद होगी कोर्ट में पेशी

पी. चिदंबरम से डीएसपी पार्थसारथी   पूछताछ करने जा रहे हैं। - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई ने बुधवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया। दिल्ली में सीबीआई ने चिदंबरम को उनके जोरबाग स्थित घर से गिरफ्तार किया। खबर है कि डीएसपी पार्थसारथी चिदंबरम से पूछताछ करेंगे। इसके बाद उन्हें सीबीआई राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश करेगी। खबरों की मानें तो INX मीडिया मामले में गिरफ्तारी के बाद सीबीआई उनकी न्यायिक हिरासत मांग सकती है। चिदंबरम की ओर से गुरुवार को ही जमानत याचिका दायर की जाएगी।

बता दें कि पी. चिदंबरम ने बुधवार को ही सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी। लेकिन कोर्ट ने कहा कि अगर चीफ जस्टिस इस मामले को सुनवाई के लिए आदेशित करते हैं हम शुक्रवार को सुनवाई कर सकते हैं।

बुधवार शाम को चिदंबरम कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने अपना पक्षा रखा और कहा कि INX मीडिया मामले में मैं आरोपी नहीं हूं और ना ही मेरे परिवार के किसी अन्य सदस्य पर आरोप है। अपनी बात रखने के बाद वो अपने घर चले गए। उनके सामने आने के बाद सीबीआई की टीम भी उनके घर पहुंची। बाद में ईडी की टीम भी चिदंबरम के आवास पर पहुंची। इस मौके पर कई कांग्रेस समर्थक वहां मौजूद रहे। भारतीय युवा कांग्रेस और एनएसयूआई के प्रेसिडेंट धरने पर बैठे। बाद में सीबीआई की टीम उन्हें अपने साथ ले गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

सीबीआई सूत्रों के अनुसार, उनका मेडिकल टेस्ट मुख्यालय में किया गया। इस बीच, कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध को रोकने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। यदि आवश्यक हुआ तो कल दिल्ली पुलिस को सुरक्षा को बढ़ाने के लिए कहा जाएगा


एक पत्रकार ने ट्वीट किया, कार्ति ने कहा, 'सीबीआई वर्तमान सरकार की कठपुतली है।' इसके जवाब में कार्ति ने कहा कि ऐसा कोई अधिकारी नहीं है जो यह कहते हुए किसी फाइल को बंद करने की हिम्मत रखता हो कि कोई मामला नहीं है। जबकि कोई मामला नहीं है। कभी न खत्म होने वाली जांच उत्पीड़न का उपकरण और तरीका है।

कार्ति चिदंबरम की प्रतिक्रिया

कार्ति चिदंबरम ने कहा कि उनके पिता को जिस नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया, वह सिर्फ राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित है। संवाददाताओं से बातचीत में कार्ति चिदंबरम ने कहा कि कथित कृत्य 2008 में हुआ और उसमें अब तक कोई आरोप नहीं है।

उन्होंने मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा उनसे की गई पूछताछ को याद करते हुए कहा कि सीबीआई ने उन्हें कई बार बुलाया और हर बार करीब 10 घंटे जांच एजेंसी के दफ्तर में पूछताछ की गई।

इसे भी पढ़ें :

3 घंटे के ड्रामें के बाद चिदंबरम को घर से उठा ले गई CBI, दीवार फांद ऐसे घुसे अधिकारी


उन्होंने कहा, "लेकिन आज तक कोई आरोपपत्र नहीं है, जिसका मतलब है कि कोई केस नहीं है।" कार्ति चिदंबरम ने कहा कि गिरफ्तारी सरकार में किसी को संतुष्ट करने के लिए की गई है।

उन्होंने कहा कि गंभीर मसलों से देश का ध्यान भटकाने के लिए यह गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने इस बात से इन्कार किया कि दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद उनके पिता मंगलवार रात से फरार थे। सुप्रीम कोर्ट से भी उनको कोई राहत नहीं मिली।

इससे पहले कार्ति ने ट्वीट के जरिए कहा कि जांच एजेंसियों ने कुछ लोगों के आनंद के लिए मनोरंजक ड्रामा रचा। कार्ति ने यह बात आईएनएक्स मीडिया मामले में पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी के सिलसिले में कही। उन्होंने चिदंबरम की मदद करने के लिए कांग्रेस पार्टी का आभार जताया।


उन्होंने ट्वीट में कहा, "ड्रामा और दृश्य एजेंसियों द्वारा घटना को सनसनीखेज बनाने और कुछ रतिक लोगों के आनंद के लिए रचे गए।"

कार्ति ने यह बात चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिए पहुंचे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों द्वारा उनके जोरबाग स्थित आवास की चारदीवारी फांदने के संबंध में कही।

उन्होंने कहा, "मैं मदद के लिए आईएनसी इंडिया (भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस), श्री राहुल गांधी, प्रियंका गांधी का आभारी हूं। और हमारे साथ शुरू से ही खड़े रहने के लिए कपिल सिब्बल, एएम सिंघवी, सलमान खुर्शीद का हमेशा आभारी हूं।"

उन्होंने कहा, "मेरी तलाशी चार बार ली गई और 20 से अधिक समन पर हाजिर हुआ। हर सत्र कम से कम 10 से 12 घंटे का था। 12 दिनों तक सीबीआई का मेहमान बना रहा। फिर भी उस घटना में कोई चार्जशीट नहीं है, जो 2008 में घटी और उसमें 2017 में एफआईआर दर्ज की गई। कोई मामला नहीं है।"

Advertisement
Back to Top