बांदा : उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के बबेरू इलाके में अटारा रोड के पास कब्रिस्तान से 22 साल बाद एक शव को कब्र से बाहर निकाला गया, आश्चर्य की बात यह है कि शव बिल्कुल गला नहीं है। यहां तक कि कफन भी बेदाग सफेद मिला है।

स्थानीय लोग इसे 'चमत्कार' मान रहे हैं। उनका कहना है कि मृतक नासिर अहमद एक 'अच्छी आत्मा है, जिसे अल्लाह का आशीर्वाद प्राप्त था।'यह घटना बुधवार को बबेरू कब्रिस्तान में हुई, जहां एक कब्र लगातार बारिश के कारण डूब गई थी।

इस बारे में कब्रिस्तान समिति के सदस्यों को सूचित किया गया, जिसके बाद उन्होंने जब कीचड़ को साफ किया तो उन्हें एकदम सफेद कफन में लिपटा एक शव मिला। खबर फैलते ही जगह पर भारी भीड़ जमा हो गई और शव को बाहर निकाला गया।

इसे भी पढ़ें :

उत्तर प्रदेश : बस-ट्रक की भिड़ंत में 7 की मौत, दो दर्जन से अधिक घायल

शव की पहचान नासिर अहमद के रूप में हुई, जिसकी 22 साल पहले मौत हो गई थी। अहमद के रिश्तेदारों में से एक ने शव की पहचान की और कहा कि 22 साल पहले जब दफन हुआ था, तब वह मौजूद था। स्थानीय मौलवियों के परामर्श से, बाद में बुधवार रात को शव को पास की एक अन्य कब्र में दफना दिया गया।