हैदराबाद : बीजेपी गल्फ कमेटी के चेयरमैन श्रीनिवास ने भारतीय दूतावास के माध्यम से कहा कि ओमान में फंसी हैदराबाद की लड़की बचने की कोशिश कर रही है। दूतावास ने बताया कि ओमान ने उसकी पहचान और आवास सबूतों को नहीं मान रही है।

भारत ने हैदराबाद के याकुतपुरा में रहनेवाली लड़की का पासपोर्ट जारी किया है। उस पासपोर्ट में लड़की पहचान और आवास का पता दिया हुआ है। इसके बावजूद ओमान में उसे नहीं माना जा रहा है।

बताया जा रहा है कि हैदराबाद के याकुतपुरा की रहनेवाली एक लड़की नूरजहां फातिमा बीते 25 दिनों से ओमान में फंसी हुई है। वर्ष 2019 में 26 जनवरी को उसके तलाकशुदा मां के नकारने के बाद वह हाउसमेड के तौर पर काम करने के लिए ओमान गई।

नूरजहां फातिमा 
नूरजहां फातिमा 

फातिमा के रिश्तेदार मीर अकी अली खान ने बताया कि ओमान में उसकी मालकीन उसे प्रताड़ित कर रही है। उसकी प्रताड़ना से तंग हो चुकी फातिमा स्वदेश लौटना चाहती है। उसने किसी तरह से ओमान में भारतीय दूतावास से संपर्क किया और उसे स्वदेश भेजने का अनुरोध किया। उसे स्वदेश भेजने की बजाय वहां का दूतावास उसकी पहचान और आवास को लेकर संदेह व्यक्त कर रहा है।

हैदराबाद की लड़की को लेकर दूतावास को भेजा गया संदेश
हैदराबाद की लड़की को लेकर दूतावास को भेजा गया संदेश

अकी अली खान ने बताया कि हैदराबाद में स्थानीय पुलिस थाने में उसके स्थानीय निवासी होने का प्रमाणपत्र देने को कहा। इस पर रेन बाजार पुलिस अधिकारी ने बताया कि उसका पासपोर्ट ही उसकी पहचान और आवास के पते के लिए काफी है।

इसे भी पढ़ें :

दुबई में पति बना है महिला व उसके बच्चों की जान का दुश्मन, विदेश मंत्रालय से गुहार

अधिकारी ने बताया कि नूरजहां फातिमा के मामले में उनके पास कोई जानकारी नहीं है। पीड़िता के परिवार के सदस्यों ने भारत सरकार से अनुरोध किया कि उनकी बेटी नूरजहां फातिमा को स्वदेश लाने में सहयोग दें।