चेन्नई : पुरसैवाक्य्म नेलवाई में सोने के झुमके खाने से मुर्गी की मौत हो गई। यह घटना देरी से उजागर हुई। चेन्नई के शिवकुमार ने संतान नहीं होने से एक साल पहले एक मुर्गी के बच्चे को लाकर पालनपोषण किया। उसने उसका नाम ‘पुंजी’ रखा।

शिवकुमार की बहन की बेटी दिपा ने बालों में कंगी करते हुये सोने के झुमके निकालकर बाजू में नीचे रखे। वहां घूम रही मुर्गी ने वह झुमके खाये। शिवकुमार शीघ्र ही उस मुर्गी को अन्नानगर के वेटरनरी अस्पताल ले गया। डॉक्टर ने एक्स-रे निकाल कर देखा तो मुर्गी के कलेजे के निकट झुमके थे। उसने ऑपरेशन कर झुमके बाहर निकाले।

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना में इस मुर्गी ने रचा अंडे देने का इतिहास, जानने के लिए पढ़ें खबर

मुर्गी के पेट में सोने के झुमके का नुकिला कोना लगने से उसके हृदय में छेद हुआ और वह मर गई। जान से ज्यादा समझकर पालनपोषण कर मुर्गी के मरने से शिवकुमार उदास हुआ। मुर्गी के मरने पर दिपा ने आंसू बहाये। उनके आंखों में आंसू देख अन्य लोगों की भी आंखे भर आई।